कुख्यात नूरुद्दीन का नूर गायब होते ही सहसवान का अधिशासी अधिकारी बदला

संजय तिवारी की कार बताई जाती है, जिस पर उत्तर प्रदेश सरकार लिखा है।

बदायूं जिले की नगर पालिका सहसवान के कुख्यात चेयरमैन नूरुद्दीन के घोटालों का खुलासा होते ही अधिशासी अधिकारी को हटा दिया गया है। नये अधिशासी अधिकारी अशोक गोयल ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है, जो अब चेयरमैन की भ्रष्ट नीतियों पर अंकुश लगाने को तैयार हैं, वे सोमवार से नियमित कार्यालय में बैठ कर हालातों को सुधारेंगे।
उल्लेखनीय है कि
गौतम संदेश ने सहसवान में हुए शीतल प्याऊ घोटाला, अच्छी-भली सड़कों को उखड़वा कर उनके निर्माण के नाम पर घोटाला और सफाई का फर्जी टेंडर निकालने के घोटाले का भी खुलासा किया था, इस सबमें अधिशासी अधिकारी संजय तिवारी को चेयरमैन नूरुद्दीन का बराबर का सहभागी बताया जा रहा है। सहसवान नगर पालिका में भ्रष्टाचार को रोकने के उद्देश्य से नये अधिशासी अधिकारी अशोक गोयल को तैनात कर दिया गया है। अशोक गोयल ने कार्यभार ले लिया है, वे सोमवार से कार्यालय में नियमित बैठ कर भष्टाचार और अनियमितताओं पर अंकुश लगाने का दावा कर रहे हैं। नये ईओ को यह भी देखना होगा कि अपने चहेते जमादार को नूरुद्दीन ने क्लर्क बना दिया है, जो घोटालों से संबंधित पत्रावलियों को दबाये बैठा है।

संजय तिवारी के बारे में बताया जाता है कि उझानी में मूल तैनाती है, लेकिन वे बरेली रहते हैं, जहां से वे कभी-कभी आते हैं, जबकि एचआरए ले रहे हैं। संजय तिवारी के बारे में यह भी बताया जाता है कि वे निजी गनर रखते हैं और निजी गाड़ी पर उत्तर प्रदेश सरकार लिख कर वीवीआईपी की तरह घूमते हैं। नूरुद्दीन और संजय तिवारी की सोच आसानी से मिल गई, जिससे दोनों सरकारी धन को हजम करने में जुटे हुए थे।

यह भी बता दें कि गौतम संदेश के खुलासों के बाद नूरुद्दीन का आम जनता के बीच से नूर गायब हो गया है। नूरुद्दीन दबंगई और मीडिया मैनेजमेंट के द्वारा अपने भ्रष्टाचार को दबाये हुए था, जिसका खुलासा होने से जनता के बीच में अब बड़ी फजीहत हो रही है। यह भी बता दें कि नूरुद्दीन पर जिला संभल की कोतवाली गुन्नौर क्षेत्र के गाँव सैमल करनपुर का निवासी दलित नत्थूराम पुत्र मदनलाल अपहरण करने का, अफीम का धंधा करने का, नाबालिग लड़कियों और औरतों का यौन शोषण कराने का आरोप लगा चुका है, यह प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है। गुरूवार को नूरुद्दीन के बेटे जमालुद्दीन के पेट्रोल पंप जैद फीलिंग स्टेशन पर एसडीएम दिनेश कुमार और सीओ श्योराज सिंह के नेतृत्व में छापा मारा गया था। जांच में दो मशीनें संदिग्ध पाई गईं थीं, जिन्हें सील कर दिया गया है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सरकारी धन हजम करने के लिए अच्छी-भली सड़कें उखड़वा रहा है नूरुद्दीन

सहसवान के पालिकाध्यक्ष नूरुद्दीन ने की 67,41,851 रूपये हड़पने की तैयारी

जेसीबी, ट्रैक्टर-ट्रॉली और कर्मी होते हुए नूरुद्दीन ने निकाला सफाई का टेंडर

बिजिलेंस के छापे में खुलासा, बिजली चोर भी निकला पालिकाध्यक्ष नूरुद्दीन

जमीन कब्जाने, अपरहरण, अफीम और देह व्यापार का भी धंधा करता है नूरुद्दीन

Leave a Reply