बदायूं कांड: एसआईटी ने जेल में आरोपियों के बयान लिए

गाँव कटरा सआदतगंज की सूनसान सड़क
गाँव कटरा सआदतगंज की सूनसान सड़क

बदायूं के कटरा सआदतगंज की चर्चित घटना में आज विशेष जांच टीम ने जिला कारागार में जाकर आरोपियों के बयान लिए, वहीं आज गाँव कटरा सआदतगंज में अंदर और घटना स्थल पर चारों ओर सन्नाटा पसरा रहा और अधिकाँश लोग अपने-अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त नज़र आये।

उल्लेखनीय है कि गाँव कटरा सआदतगंज निवासी एक मौर्य परिवार की 12 और 14 वर्ष उम्र की चचेरी-तहेरी बहनें 27-28 मई की रात में करीब 8 बजे जंगल में शौच को गई थीं, तभी वह गायब हो गईं। देर तक न लौटने पर परिजनों ने खोजबीन शुरू की, तो दोनों बहनों का कहीं पता नहीं चला। घबराये परिजन रात में ही पुलिस चौकी पर गये और मदद की गुहार लगाई, तो आरोप है कि मौके पर मौजूद सिपाही सर्वेश यादव व छत्रपाल ने उन्हें गालियाँ दीं और पीट कर भगा दिया। बेटियों के साथ किसी भी तरह की अनहोनी होने की आशंका को लेकर और पुलिस से भयभीत परिजन स्वयं ही पूरी रात लड़कियों को खोजते रहे, पर लड़कियों का पता नहीं चला। बुधवार 28 मई की सुबह गाँव के पास ही आम के पेड़ पर दोनों के शव लटके मिले, तो कोहराम मच गया। इस घटना में दो सिपाहियों सहित पांच नामजद आरोपी जेल जा चुके हैं। दो अज्ञात लोगों का पता लगाना अभी बाकी है। घटना के शीघ्र खुलासे के लिए एसएसपी विशेष जांच टीम गठित कर चुके हैं।

एसपी सिटी मान सिंह चौहान और विशेष जांच टीम के प्रभारी सीओ उझानी मुकेश सक्सेना के साथ आज टीम ने जिला कारागार में जाकर आरोपियों के बयान लिए हैं। उधर गाँव कटरा सआदतगंज में आज कोई नेता व अफसर नहीं पहुंचा, जिससे गाँव में शांति और सन्नाटे का राज रहा। घटना स्थल की ओर भी लोग नज़र नहीं आये। अधिकाँश लोग अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त नज़र आये, जिससे कहा जा सकता है कि गाँव के लोग सामान्य हो चले हैं, लेकिन पीड़ित पक्ष के परिवारों की ओर चहल-कदमी कम दिखाई दी।

संबंधित खबरों और लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

अगवा कर दुष्कर्म के बाद यादवों पर बहनों की हत्या का आरोप

पीएमओ के हस्तक्षेप के बाद सक्रिय हुई उत्तर प्रदेश सरकार

कटरा सआदतगंज में सदियों याद की जाती रहेगी यह घटना

माया, मीरा और धर्मेन्द्र पीड़ितों से मिले, कल आयेंगे पासवान

पीड़ितों से मिले पासवान, केंद्र सरकार पर भी उठे सवाल

बदायूं कांड: आज डीजीपी, डीपी और भाजपा की टीम आई

दलीय और जातीय राजनीति का शिकार हुआ बदायूं कांड

Leave a Reply