धमकाने वाले सुधर जायें, वरना कार्यकर्ता सुधार देंगे: धर्मेन्द्र

बदायूं विधान सभा क्षेत्र के विशाल कार्यकर्ता सम्म्मेलन को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
बदायूं विधान सभा क्षेत्र के विशाल कार्यकर्ता सम्म्मेलन को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।

बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी के विधान सभा वार होने वाले कार्यकर्ता सम्मेलनों की श्रृंखला का प्रथम सम्मेलन आज बदायूं विधान सभा क्षेत्र का हाफिज सिद्दीकी इस्लामियां इंटर कॉलेज के प्रांगण में आयोजित किया गया, जो महारैली में तब्दील हो गया। बदायूं विधान सभा क्षेत्र में हुए राजनैतिक परिवर्तन के बाद लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव प्रथम बार जनपद में आये, तो उनका भाषण सुनने के उददेश्य से कार्यकर्ता सम्मेलन में अपेक्षा से अधिक जनसमूह उमड़ पड़ा। सांसद ने भी उत्साहित जनता को निराश नहीं किया, वे बदायूं में लुभावना राजनैतिक भाषण नहीं देते हैं, वे जनता से सीधी बात करते हैं और हमेशा की तरह ही उन्होंने आज भी दिल से भाषण दिया, साथ ही आक्रामक अंदाज में विरोधियों को चेतावनी भी दी कि सुधर जायें, संभल जायें, वरना हमारे बहादुर कार्यकर्ता सुधार देंगे।

मैदान में उपस्थित अपार जनसमूह को देख कर गदगद सम्मेलन के मुख्य अतिथि लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव ने अंताक्षरी खेलने की जगह कहा कि उन पर हमला करने वालों को जनता ने जवाब दे दिया है, इसलिए वे कुछ नहीं कहेंगे। उन्होंने नाम लिए बिना कहा कि जो लोग स्वयं को बहुत लोकप्रिय समझते थे कि वे विधान सभा चुनाव के चार महीने बाद हुए पालिकाध्यक्ष का चुनाव हार गये।

उन्होंने कहा कि वे बहुत उदार और शालीन लोग हैं, जो लोग धमकियां दे रहे हैं, वे सुधर जायें, हमारे कार्यकर्ता बहुत शक्तिशाली हैं, जो सही कर देंगे। उन्होंने कहा कि बदायूं विधान सभा क्षेत्र में साढ़े चार वर्ष हुई लूट, दबंगई और भ्रष्टाचार पर रोक लगा दी है। और जो भी जरूरत होगी, वह सब भी किया जायेगा। किसी पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने की जगह उदारता के साथ बोले कि साढ़े चार वर्ष जो हुआ, उसकी जिम्मेदारी उन पर ही डाल दो।

परदेसी बताने पर उन्होंने कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) ने बदायूं से रिश्ता बनाया है, वे उस रिश्ते को आगे बढ़ा रहे हैं और वे कभी भी बदायूं नहीं छोड़ने वाले। उन्होंने कहा कि बदायूं, मैनपुरी और इटावा की जनता को वे एकसमान ही समझते हैं। उन्होंने सवाल किया कि शहर के मुस्लिम नेताओं का शोषण किया गया, तानाशाही की गई, वे आजम खान के सम्मान के कारण चुप रहे, जिसकी वे जिम्मेदारी लेते हैं। बोले- आज सलीम इकबाल शेरवानी का नाम लिया जा रहा है, लेकिन इस बात का जवाब दे देना कि उस चुनाव में वे सलीम इकबाल शेरवानी के साथ थे, या डीपी यादव के? जनता से बोले कि हमने गुनाह किया हो, तो जरुर हमको सजा दे देना, किसी और ने गुनाह किया हो, तो उसे सजा दे देना। आबिद रजा के सपा में लौटने की अफवाह पर उन्होंने आबिद रजा का नाम लिए बिना स्पष्ट कर दिया कि ऐसे लोग सपा में कभी नहीं आयेंगे।

शहर में जमीन के अंदर डाली जा रही बिजली की लाइन पर सवाल उठाने पर उन्होंने कहा कि दुनिया के तमाम विकसित देशों में जमीन के अंदर लाइन है, रामपुर, कन्नौज, इटावा और मैनपुरी में भी है, इसलिए मुख्यमंत्री से विशेष आग्रह कर वे यहाँ योजना मंजूर करा कर लाये, जिस पर विवाद खड़ा किया जा रहा है, यह मेरा गुनाह है?

सांसद ने कहा कि नेता जी की नीतियों पर चलते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने हर योजना पूरी कर दी है। मुख्यमंत्री ने घोषणा पत्र अक्षरशः पूरा कर दिया है। लखनऊ, मेरठ और दिल्ली हाईवे फोरलेन हो ही रहा है, बलिया तक भी हाईवे बनेगा। उन्होंने योजनाओं को गिनाते हुए कहा कि महिलाओं और गरीबों को प्रदेश सरकार ने सम्मान दिया है।

भाजपा की केंद्र सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि ढाई साल के कार्यकाल में एक भी योजना पूरी नहीं हुई है। 15 लाख रूपये देने का वादा किया और जन-धन खाते भी खुलवा दिए, लेकिन रुपया आज तक नहीं आया। उन्होंने कहा कि राजनैतिक मजबूरी में भले ही कोई सपा सरकार का विरोध कर दे, लेकिन दिल से सपा का कोई विरोध नहीं कर पायेगा।

सम्मेलन को विशिष्ट अथिति व सपा के जनपद प्रभारी, विधान परिषद सदस्य आनंद सिंह भदौरिया, ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव, विधान परिषद सदस्य व सपा जिलाध्यक्ष बनवारी सिंह यादव, मौलाना यासीन उस्मानी, विधायक आशीष यादव, विधायक आशुतोष मौर्य, विधायक रामखिलाड़ी सिंह यादव आदि ने विचार व्यक्त किये, साथ ही लोकप्रिय युवा नेता डीसीबी के चेयरमैन ब्रजेश यादव, प्रदीप यादव, विमल कृष्ण अग्रवाल, प्रेमपाल सिंह यादव, डीके यादव, चौ. नरोत्तम सिंह यादव, राजू यादव, स्वाले चौधरी, सलीम अहमद, यासीन गददी, खालिद परवेज़, मोहतशाम सिददीकी, मोहम्मद मियां, अवधेश यादव, विपिन यादव, अशरफ पीर जी, फकरे अहमद शोबी, बी.डी. नकवी, आमिर सुल्तानी, हरप्रसाद सिंह, नत्थूलाल वर्मा, तनवीर हसन खां, हाजी रईस, फरहत अली, लड्डन भाई, शहंशाह, सभाषद हारून, सभाषद परवेज, तहजीब आलम और प्रभात अग्रवाल सहित तमाम लोग मौजूद रहे, इस अवसर पर तमाम लोगों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता भी ग्रहण की।

सांसद का भाषण देखने/सुनने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

सुनने के लिए आइकन पर क्लिक करें

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए लिंक क्लिक करें

सदर विधान सभा क्षेत्र से मुस्लिम प्रत्याशी ही उतारेगी सपा

आदर्शवादी आबिद के सोत नदी में हो रहे अवैध निर्माण पर रोक

गुंडई पर रोक लगते ही आबिद रजा का परिवार तिलमिलाया

दुराचारियों की सूची में 70वें नंबर पर हैं आदर्शवादी आबिद रजा

विधायक आबिद रजा के घर पर चल रहा है जनता का जनरेटर

कथित आदर्शवादी आबिद रजा का अखबार भी झूठा निकला

Leave a Reply