कथित आदर्शवादी आबिद रजा का अखबार भी झूठा निकला

विधायक आबिद रजा
विधायक आबिद रजा

अपराधियों ने जिस तरह राजनीति को रसातल में पहुंचा दिया, उसी तरह अब मीडिया को भी निशाना बनाने लगे हैं। अपराधी से नेता बने लोगों को मीडिया नायक नहीं बना सकता, इसलिए अपराधी मीडिया में भी घुसपैठ करने लगे हैं। ताजा प्रकरण बदायूं जिले का है, यहाँ के सदर क्षेत्र से विधायक आबिद रजा हिस्ट्रीशीटर अपराधी रहे हैं, साथ ही उन पर अन्य तमाम गंभीर आरोप हैं, जिन्हें दबाये रखने के लिए मीडिया के दलालों में वे बड़ी रकम बांटते रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से वे स्वयं को ईमानदार, विकास पुरुष व महापुरुष घोषित करने में जुटे हुए हैं, इसी लालसा के चलते उन्होंने हाल ही में साप्ताहिक अखबार लॉन्च किया है, जिसकी संपादक उनकी पत्नी फात्मा रजा है। अखबार अपना, संपादक अपना और अखबार में खबरें भी सिर्फ अपनी ही छापते हैं। अखबार को पंपलेट बना लिया है, लेकिन पंपलेट रूपी अखबार में स्वयं को महान दर्शाने के लिए क्षेत्र के लोगों के फर्जी बयान और फोटो भी छाप रहे हैं, ऐसे ही एक व्यक्ति ने फर्जी बयान और फोटो छापने को लेकर कथित आदर्शवादी आबिद रजा की कड़ी निंदा की है।

क्षेत्र की ग्राम पंचायत हुसैनपुर करौतियां में हुए विकास कार्यों का श्रेय लेते हुए कथित आदर्शवादी विधायक आबिद रजा ने कई लोगों के फोटो सहित बयान छपवाये हैं, जो फर्जी बताये जा रहे हैं। पूर्व प्रधान मेराज का भी फोटो सहित बयान छापा है। मेराज के पति शहंशाह आलम ने बताया कि दो लोग आये थे और उन्होंने कहा था कि क्षेत्र का सर्वे कर रहे हैं, जिसके लिए पत्नी का फोटो चाहिए, तो उन्होंने फोटो दिलवा दिया था। उन्होंने कहा कि फोटो का अखबार में छाप कर गलत इस्तेमाल किया गया है, साथ ही फर्जी बयान भी छाप दिया है। उन्होंने कहा कि विधायक आबिद रजा का उनके गाँव में हुए विकास कार्य में कोई योगदान नहीं है। जितना भी विकास कार्य हुआ है, वह सब सांसद धर्मेन्द्र यादव के प्रयास से हुआ है और हम उन्हीं के आभारी हैं। फर्जी बयान छापने का खुलासा हो गया है, ऐसे में सच छापने का दावा करने वाली संपादक फात्मा रजा और कथित आदर्शवादी आबिद रजा पाठकों से क्षमा मांगते हुए खंडन प्रकाशित करने का साहस कर पायेंगे, या नहीं?, यह अगला अंक देख कर ही पता चलेगा।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बड़ों की इज्जत तो कर सकते हैं, गुलामी नहीं कर सकते: आबिद

कथित आदर्शवादी विधायक आबिद रजा की निधि में घोटाला

एक और नौटंकी से कथित आदर्शवादी आबिद रजा की फजीहत

आदर्शवादी आबिद के सोत नदी में हो रहे अवैध निर्माण पर रोक

दुराचारियों की सूची में 70वें नंबर पर हैं आदर्शवादी आबिद रजा

गुंडई पर रोक लगते ही आबिद रजा का परिवार तिलमिलाया

धर्मेन्द्र यादव को दी गई गाली का बदला लेने को जनता आतुर

चर्चा: अपनी सुविधा के अनुसार जगता है आबिद रजा का आदर्श

Leave a Reply