अंकुर की हत्या के बदले उमेश की हत्या, अंकुर के माँ, पिता और भाई नामजद

जंगल में पड़ी उमेश की लाश के पास मौजूद भीड़ व पुलिस पुलिस।

बदायूं जिले के समाजवादी युवजन सभा के पूर्व जिलाध्यक्ष सर्वेश यादव के भाई और ब्लॉक अंबियापुर की प्रमुख विजेता यादव के देवर उमेश यादव की हत्या हो गई है। बिल्सी थाना क्षेत्र के गाँव वैन निवासी उमेश का शव गाँव सिद्धपुर चित्रसेन मार्ग के किनारे पड़ा मिला है। शव की दशा देख कर लग रहा है कि हत्या धारदार हथियारों से की गई है। उमेश की हत्या पिछले दिनों हुई अंकुर की हत्या से ही जुड़ गई है, क्योंकि उमेश के भाई देवेश ने मृतक अंकुर के पिता महेश पाल सिंह उर्फ “गुड्डू”, माँ नीलम और भाई आशीष पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि 8/9 फरवरी की रात में अंकुर की हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप अंबियापुर की ब्लॉक प्रमुख विजेता यादव के पति और सपा नेता सर्वेश यादव पर लगाया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद सपा ने सर्वेश को पार्टी से निकाल दिया था, लेकिन पुलिस अभी तक सर्वेश को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस की लापरवाही के चलते उमेश कि हत्या हो गई। मृतक अंकुर सपा नेता सुरेश पाल सिंह चौहान का भतीजा था।

यह भी बता दें कि मार्च 2016 में ब्लूमिंगडेल स्कूल में रिजल्ट लेने गईं ब्लॉक अंबियापुर की प्रमुख विजेता यादव बेटे सहित गायब हो गईं थीं। थाना सिविल लाइन में गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी, लेकिन उस समय विजेता को ले जाने का आरोप अंकुर चौहान पर ही लगा था, इसलिए अंकुर की हत्या को उसी घटना से जोड़ा जा रहा था और अब उमेश की हत्या भी उसी घटना से जुड़ गई है। पुलिस की गलत भूमिका के चलते कानून को उठा कर ताक में रख दिया गया है और खून के बदले खून का नारा बुलंद होने लगा है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सुरेश चौहान के भतीजे अंकुर की हत्या, सर्वेश यादव पर हत्या का आरोप

समाजवादी पार्टी की बेटे सहित गायब ब्लॉक प्रमुख बरामद

गायब ब्लॉक प्रमुख कांड में माफिया ज्योति को पीट कर छोड़ा

महिला ब्लॉक प्रमुख और बेटे के लापता होने की गुमशुदगी दर्ज

ब्लूमिंगडेल स्कूल में रिजल्ट लेने गई ब्लॉक प्रमुख गायब

Leave a Reply