ब्लूमिंगडेल स्कूल में नेता मुख्य अतिथि बनने को हुए तैयार

कुख्यात माफिया ज्योति मेंदीरत्ता
कुख्यात माफिया ज्योति मेंदीरत्ता

कुख्यात शराब माफिया, भू-माफिया, शिक्षा माफिया व शातिर दिमाग के स्वामी ज्योति मेंदीरत्ता के प्रलोभन में कई नेता एक बार फिर फंस गये हैं। कार्रवाई से बचने और अपनी छवि सुधारने के उद्देश्य से ज्योति मेंदीरत्ता सत्ता पक्ष के कुछ प्रभावशाली नेताओं को अपने स्कूल के वार्षिकोत्सव में आमंत्रित कर रहा है, जिनके माध्यम से प्रशासन पर दबाव बनायेगा, साथ ही जनता के बीच स्वयं को सभ्रांत व्यक्ति प्रचारित करने का प्रयास करेगा, जबकि इसका ब्लूमिंगडेल स्कूल प्राचीन दरगाह व कब्रिस्तान की जमीन पर कब्जा कर के बनाया गया है।

उल्लेखनीय है कि डेढ़-दो दशक पूर्व तक ज्योति मेंदीरत्ता की आर्थिक स्थिति सामान्य लोगों जैसी भी नहीं थी। बताया जाता है कि शराब के धंधे से जुड़ने के बाद यह शराब से जुड़े बड़े माफियाओं के संपर्क में आया, जिनके माध्यम से नेताओं और अफसरों की भी चमचागीरी करने लगा, फिर विवादित, प्राचीन धार्मिक स्थलों और तालाबों की जमीन कब्जा कर धनपति बन गया, ऐसे ही प्राचीन सागर ताल वाली दरगाह व कब्रिस्तान की जमीन कब्जा कर इसने ब्लूमिंगडेल स्कूल बना लिया। अब स्कूल के माध्यम से स्वयं को सभ्रांत व्यक्ति प्रचारित करने में जुटा रहता है, जबकि स्कूल की आड़ में आज भी तमाम अनैतिक कार्यों को कर रहा है। स्कूल के अंदर का माहौल भी शैक्षिणिक नहीं बताया जाता है। शिक्षकों के साथ अभद्रता की जाती है, जिससे शिक्षक शीघ्र ही स्कूल से त्याग पत्र दे जाते हैं। अभिभावकों से भी बदतमीजी करने की घटनायें होती रहती हैं, जिससे लगातार बच्चे कम हो रहे हैं। हालात इतने बदतर हो चले हैं कि स्कूल के खराब माहौल के चलते बच्चे अपराधी बनने लगे हैं। पिछले दिनों ब्लूमिंगडेल स्कूल के छात्र ने स्कूल की ही छात्राओं के एमएमएस बना लिए, जिसका मुकदमा कोतवाली उझानी में दर्ज कराया गया और छात्र जेल चला गया। इस घटना के बाद अधिकांश अभिभावक अपनी बेटियों को स्कूल से निकालने का मन बना चुके हैं। लड़कियों को सिर्फ नाचने के लिए ही प्रेरित किया जाता है, जिससे कई परिवार शर्मसार हैं कि लड़कियाँ पढ़ने को भेजते हैं और उन्हें नाचना सिखाया जा रहा है। एमएमएस कांड के बाद ज्योति और उसके ब्लूमिंगडेल स्कूल की सच्चाई जनता के सामने उजागर हो गई, जिसे दबाने के उद्देश्य से एवं स्वयं की छवि सुधारने के उद्देश्य से ज्योति स्कूल में वार्षिकोत्सव आयोजित कर रहा है। समारोह में सत्ता पक्ष के कुछ प्रभावशाली नेताओं को बुला कर प्रशासन पर दबाव बनाना जाता है, ताकि उसके अनैतिक कार्यों को लेकर होने वाली कार्रवाई टल जाये, लेकिन इसका असली चरित्र अब जनता के सामने आ गया है, जिससे इसकी मदद करने वाले नेताओं की छवि भी अब खराब होने से बच नहीं पायेगी। नेताओं के समारोह में आने को लेकर भी कई तरह की चर्चायें की जा रही हैं, जिनकी अभी पुष्टि नहीं हो पा रही है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

ज्योति राजनेता के सहारे दबाना चाहता है एमएमएस कांड

एमएमएस कांड में जेल गया ब्लूमिंगडेल स्कूल का छात्र

ब्लूमिंगडेल स्कूल के छात्रों पर पड़ने लगा ज्योति का असर

कब्रिस्तान पर कब्जा कर बनाया गया है ब्लूमिंगडेल स्कूल

हर नियम-कानून को ताक में रखता है माफिया ज्योति

शराब और भू-माफिया से शिक्षा माफिया भी बना ज्योति

सपा नेताओं के सहारे बचा हुआ है घोटालेबाज ज्योति मैंदीरत्ता

Leave a Reply