ज्योति राजनेता के सहारे दबाना चाहता है एमएमएस कांड

शातिर व कुख्यात शराब माफिया, भू-माफिया और शिक्षा माफिया ज्योति मेंदीरत्ता
शातिर व कुख्यात शराब माफिया, भू-माफिया और शिक्षा माफिया ज्योति मेंदीरत्ता

एमएमएस कांड को लेकर चर्चा में चल रहे ब्लूमिंगडेल स्कूल की छवि को शातिर व कुख्यात शराब माफिया, भू-माफिया और शिक्षा माफिया ज्योति मेंदीरत्ता पुनः सही करने के उद्देश्य से जुट गया है। वार्षिक समारोह आयोजित कर किसी प्रतिष्ठित नेता को मुख्य अतिथि बनाने का प्रयास कर रहा है, ताकि मीडिया का सहारा लेकर सामाजिक रूप से छवि सुदृढ़ कर सके, लेकिन अभी तक कोई प्रतिष्ठित व बड़ा नेता कुख्यात माफिया ज्योति का निमंत्रण स्वीकार करने को तैयार नहीं है।

उल्लेखनीय है कि प्राचीन दरगाह सागर ताल व कब्रिस्तान की जमीन कब्जा कर माफिया ज्योति मेंदीरत्ता ने ब्लूमिंगडेल स्कूल बनाया है। सत्ताधारी पार्टियों के शीर्ष नेताओं की चमचागीरी करने में माहिर ज्योति कार्रवाई से न सिर्फ बचा रहता है, बल्कि स्कूल की आड़ में और भी कई तरह के अनैतिक कार्यों को अंजाम देता रहता है, तभी अप्रत्याशित रूप से इसकी चल-अचल संपत्ति बढ़ती जा रही है। विवादित जमीनों पर कब्जे करना और फिर उन जमीनों को कई गुने दामों पर बेचना इसका मुख्य धंधा है। धंधे में सत्ताधारी कुछ नेताओं को साझीदार बना लेता है, जिससे इसे प्रशासनिक मदद मिलती रहती है। किसी भी तरह धन अर्जित करना इसका मुख्य उद्देश्य है, जिससे स्कूल का वातावरण भी दूषित होता जा रहा है। बच्चों पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है, जिसके चलते छात्र दुस्साहसी होते जा रहे हैं। हालात इतने भयानक हो चले हैं कि छात्रों के एक गैंग ने मिल कर पिछले दिनों स्कूल की छात्राओं के एमएमएस बना लिए और फिर उन्हें ब्लैकमेल करने लगे। छात्राओं के परिजनों को पता चला, तो एक परिजन ने उझानी कोतवाली में मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने ब्लोमिंगडेल स्कूल के छात्र सहित दो युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जिससे सार्वजिनक रूप से ब्लूमिंगडेल स्कूल की छवि पूरी तरह खराब हो गई। अधिकांश अभिवावक ब्लूमिंगडेल स्कूल से अपने बच्चों को बाहर निकालने का मन बना चुके हैं, जिससे माफिया ज्योति की नींद उड़ गई है। स्कूल बंद हो गया, तो लोगों की नजर इसके अन्य अनैतिक धंधों पर जाने लगेगी और फिर कार्रवाई से बच नहीं पायेगा, जिससे बड़े स्तर पर वार्षिकोत्सव मनाने की तैयारी में जुट गया है। वार्षिकोत्सव में मुख्य अतिथि किसी बड़े नेता को बनाना चाहता है, ताकि प्रशासन पर दबाव बनाते हुए सामाजिक छवि बहाल करा सके। इसके साथ कुछ मीडिया संस्थान भी मिले हुए हैं, जो इसकी परोक्ष व अपरोक्ष रूप से मदद कर रहे हैं। सूत्रों का तो यहाँ तक कहना है कि नेताओं को मोटी रकम देकर किराये पर भी लाने को तैयार है एवं वार्षिकोत्सव के नाम पर बच्चों से अवैध वसूली भी करा रहा है, लेकिन अभी तक किसी प्रतिष्ठित नेता ने ज्योति के निमंत्रण को स्वीकार नहीं किया है। माना जा रहा है कि ऐसे माहौल में ब्लूमिंगडेल स्कूल के समारोह में जो भी नेता मुख्य अतिथि बनने को तैयार हो गया, उसकी भी प्रतिष्ठा पूरी धूमिल हो सकती है, जिससे नेता माफिया ज्योति व उसके ब्लूमिंगडेल स्कूल से बचते नजर आ रहे हैं।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

एमएमएस कांड में जेल गया ब्लूमिंगडेल स्कूल का छात्र

ब्लूमिंगडेल स्कूल के छात्रों पर पड़ने लगा ज्योति का असर

कब्रिस्तान पर कब्जा कर बनाया गया है ब्लूमिंगडेल स्कूल

हर नियम-कानून को ताक में रखता है माफिया ज्योति

शराब और भू-माफिया से शिक्षा माफिया भी बना ज्योति

सपा नेताओं के सहारे बचा हुआ है घोटालेबाज ज्योति मैंदीरत्ता

Leave a Reply