विकास भवन में बनी थी साधना शर्मा की हत्या की योजना

नवीन भवन के इसी कार्यालय में बैठने लगा था हत्यारोपी ग्रीश।
नवीन भवन के इसी कार्यालय में बैठने लगा था हत्यारोपी ग्रीश।

जिस विकास भवन में विकास से संबंधित योजनायें संचालित की जाती हैं, उसी विकास भवन से हत्या की योजना बना कर संचालित की गई थी और किसी को भनक तक नहीं लगी। जी हाँ, बदायूं स्थित जिला न्यायालय की शासकीय अधिवक्ता साधना शर्मा की हत्या की योजना विकास भवन में लंबे समय से बनाई जा रही थी। पिछले कुछ दिनों में हुए बदलाव का अर्थ कर्मचारियों की समझ में अब आ रहा है। साधना शर्मा हत्या कांड का खुलासा होने के बाद डीआरडीए के कर्मचारी स्तब्ध हैं।

बताते हैं कि जिला ग्राम्य विकास अभिकरण के कर्मचारी व पीडी के लिए विकास भवन में लगभग आठ कमरे आरक्षित हैं, जिनमें वर्षों से सभी बैठते आ रहे हैं। साधना शर्मा हत्या कांड में जेल जा चुका डीआरडीए का कर्मचारी ग्रीश चंद्र मिश्रा कमरा नंबर- 102 में बैठता था, जहाँ लगभग दो महीनों से मस्ताना आने लगा था। सूत्रों का कहना है कि ग्रीश के साथ बैठ कर मस्ताना कार्यालय में ही चाय पीता था, लेकिन बराबर में अन्य कर्मचारी बैठे होने के कारण दोनों लोग खुल कर आपस में बात नहीं कर पाते थे, जिससे चाय पीने के बाद बाहर निकल जाते थे।

पिछले दिनों विकास भवन परिसर में ही डीआरडीए का दक्षिण-पश्चिम दिशा में नया भवन बन गया है, जिसका उद्घाटन सांसद धर्मेन्द्र यादव ने किया था। सूत्रों का कहना है कि लगभग डेढ़ महीने पहले ग्रीश ने अपना कार्यालय नवीन भवन में बना लिया, जहां एकांत पसरा रहता है। सूत्रों का कहना है कि नवीन भवन में भी मस्ताना आता था और कई-कई घंटे ग्रीश के साथ बैठ कर बातें करता रहता था। ग्रीश ने अपना रुतबा बढ़ाने के लिए एक-दो साथी कर्मचारी से मस्ताना का परिचय भी कराया था।

साधना हत्या कांड का खुलासा होने के बाद ग्रीश जेल चला गया, तो साथी कर्मचारियों को सब कुछ समझ में आ गया कि मस्ताना क्यूं आता था और ग्रीश ने अपना कार्यालय एकांत में क्यों बनाया था, यह सब जान कर डीआरडीए के कर्मचारी स्तब्ध नजर आ रहे हैं।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

एडीजीसी साधना शर्मा का हत्यारोपी ग्रीश चंद्र मिश्रा निलंबित

एडीजीसी साधना की हुई थी हत्या, हत्यारों तक पहुंची पुलिस

पूर्व विधायक पर लगा डीजीसी साधना शर्मा की हत्या का आरोप

Leave a Reply