अविश्वास प्रस्ताव लाने में रोड़ा बनी नई भाजपा, सालारपुर के सदस्य भी तैयार

भाजपा विधायक महेश चंद्र गुप्ता को अपनी व्यथा सुनाते क्षेत्र पंचायत सदस्य।

बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी की सरकार में राजनैतिक पद हथियाने में दबंगई की गई थी जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ कई विकास क्षेत्रों में प्रमुखों के पद दबंगई से हथियाये गये थे। सत्ता परिवर्तन के बाद सदस्यों का मनोबल बढ़ गया और वे अब अविश्वास प्रस्ताव लाना चाह रहे हैं, उनके साथ पुरानी भाजपा भी खड़ी नजर आ रही है, लेकिन नई भाजपा अंदरूनी तौर पर सपा समर्थित नेताओं की मदद कर रही है, जिससे अविश्वास प्रस्ताव अधर में लटके हुए हैं।

जिला पंचायत अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने की प्रक्रिया एक माह पूर्व शुरू हो गई थी, लेकिन नई भाजपा अंदरूनी तौर पर सपा नेताओं से मिल गई, जिससे अविश्वास प्रस्ताव लाने की प्रक्रिया आज तक पूर्ण नहीं हुई है नई भाजपा दलाली में अव्वल है, जिससे प्रशासनिक अफसर नई भाजपा के चंगुल में हैं, इसलिए पुरानी भाजपा के नेता चाह कर भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं, इसी तरह विकास क्षेत्र वजीरगंज की ब्लॉक प्रमुख के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने शपथ पत्र तैयार कर लिए हैं, पर नई भाजपा रोड़ा बनी हुई है, जिससे शपथ पत्र दाखिल तक नहीं किये गये हैं

विकास क्षेत्र सालारपुर की ब्लॉक प्रमुख गेंदा देवी के विरुद्ध भी सदस्य एक मत हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए आज एक होटल में 70 क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने बैठक की। सदस्यों ने ब्लॉक प्रमुख पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए अविश्वास प्रस्ताव लाने की रणनीति बनाई। ब्लॉक प्रमुख के पति पर दखल देने का आरोप लगाते हुए सदस्यों ने प्रस्ताव किया और शपथ पत्र भी तैयार किये। सदस्यों ने बैठक में भाजपा विधायक महेश चंद्र गुप्ता को भी आमंत्रित किया और उन्हें अपनी मंशा से अवगत कराया। विधायक महेश चंद्र गुप्ता ने उपस्थित सदस्यों को आश्वस्त किया कि विधिवत कार्रवाई में वे उनके साथ हैं और हर स्तर पर मदद करने को तैयार हैं, इस पर सदस्य खुश हो गये। अब देखने वाली बात यह है कि नई भाजपा सालारपुर ब्लॉक प्रमुख के साथ खड़ी होगी, या नहीं?

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: दबाव में तीस क्षेत्र पंचायत सदस्यों की नजर कमजोर कर दी

पढ़ें: बिरला व्हाईट सीमेंट पर भारी पड़ी जेके सुपर सीमेंट, भाजपा की फजीहत

Leave a Reply