डीपी यादव ने बेटी भारती यादव को दहेज में फैक्ट्री देने के लिए कब्जा ली जमीन

पीड़ित महिला सूरजमुखी

कुख्यात हत्यारे डीपी यादव ने कटारा हत्याकांड को लेकर चर्चित बेटी भारती यादव को दहेज में फैक्ट्री देने के लिए धोखाधड़ी और दबंगई से जमीन हड़पी थी। पीड़ित महिला निरंतर फरियाद करती घूम रही है, लेकिन उसकी गुहार सुनने को कोई तैयार नहीं है। सशस्त्र लोगों द्वारा 62 बीघा जमीन फसल सहित कब्जा ली थी, जिसकी पीड़ित ने अफसरों से पुनः शिकायत कर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

सनसनीखेज प्रकरण बदायूं जिले के थाना इस्लामनगर क्षेत्र में स्थित गाँव करियामई का है, यहाँ स्थित 62 बीघा जमीन का बैनामा डीपी यादव ने ऐसे लोगों से बेटी भारती यादव और दामाद यतेन्द्र राव के नाम करा दिया, जो जमीन के मालिक ही नहीं थे। जमीन पर ईख की फसल खड़ी थी, जिसकी मालिक सूरजमुखी नाम की महिला थी, लेकिन दबंगई के बल पर डीपी यादव, भारती यादव और यतेन्द्र राव आदि ने सशस्त्र लोगों की मदद से फसल सहित जमीन कब्जा ली, तब से पीड़ित निरंतर अफसरों के कार्यालयों के चक्कर लगा रही है, पर अफसर उसकी गुहार सुनने तक को तैयार नहीं हैं।

पीड़ित का कहना है कि हर साक्ष्य और आदेश उसके पक्ष में है, फिर भी उसे कब्जा नहीं दिलाया जा रहा है और न ही हड़पी गई फसल की कीमत दिलाई जा रही है। पीड़ित ने एसएसपी, डीएम, डीआईजी, आईजी, डीजीपी और मुख्यमंत्री को प्रार्थना पत्र भेज कर डीपी यादव, भारती यादव, यतेन्द्र राव वगैरह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने की पुनः गुहार लगाई है। पीड़ित का यह भी कहना है कि मौके पर ईंटें भी पड़ी हैं। डीपी यादव हड़पी गई जमीन पर फैक्ट्री बना कर बेटी भारती यादव और दामाद यतेन्द्र राव को दहेज में देने वाले हैं।

यहाँ भी बता दें कि रानेट तिराहे पर भी फर्जी पट्टे दिखा कर डीपी यादव ने करोड़ों रूपये कीमत की जमीन हड़प ली है, इस जमीन पर यदु सुगर मिल की स्थापना हो चुकी है, जिसका निदेशक डीपी यादव का छोटा बेटा कुनाल यादव है। मिल पर बैंक और गन्ना किसानों का करोड़ों रुपया बकाया है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

डीपी यादव ने बेटों के साथ बेटी भारती को भी बनाया अपराधी, सीएम से गुहार

शातिर दिमाग व्यक्ति का नाम है डीपी यादव

वीडियो पर क्लिक कर सुनें पीड़ित सूरजमुखी की व्यथा 

Leave a Reply