दिवंगत पत्रकार जगेन्द्र के परिजन घर के सामने धरने पर बैठे

शाहजहाँपुर के कस्बा खुटार के मोहल्ला कोट में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे दिवंगत पत्रकार के परिजन।
शाहजहाँपुर के कस्बा खुटार के मोहल्ला कोट में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे दिवंगत पत्रकार के परिजन।

उत्तर प्रदेश सरकार की मनमानी से तंग आकर शाहजहांपुर के दिवंगत पत्रकार जगेन्द्र सिंह के आश्रित व ग्रामीण नामजद राज्यमंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा को मंत्रिमंडल से निकालने, सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर कस्बा खुटार के मोहल्ला कोट में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गये हैं।

धरने पर बैठे दिवंगत पत्रकार जगेन्द्र के पिता सुमेर सिंह, पत्नी सुमन और बच्चों का कहना है कि राज्यमंत्री के लोग दस लाख रुपये और परिवार के एक आदमी को सरकारी नौकरी दिलाने का लालच देते हुए समझौते का दबाव बना रहे हैं। दिवंगत पत्रकार के परिजनों का कहना है कि राममूर्ति वर्मा के मंत्री रहते हुए निष्पक्ष जाँच नहीं हो सकती, इसलिए सर्व प्रथम राममूर्ति वर्मा को मंत्रिमंडल से निकाला जाये और फिर सभी नामजदों को गिरफ्तार किया जाये। पीड़ित परिवार के साथ तमाम लोग आ खड़े हुए हैं। धरना स्थल पर आरोपी राज्यमंत्री और सरकार के विरुद्ध नारे भी लगाये गये। धरने को लेकर स्थानीय प्रशासन के साथ लखनऊ तक हड़कंप मच गया है।

पत्रकार जगेन्द्र हत्या कांड से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

मीडिया को कठघरे में खड़ा कर रही है आरोपियों की सरकार

राज्यमंत्री राममूर्ति मंत्रिमंडल में बरकरार, पुलिस कर्मी निलंबित

प्रदेश में कायम गुंडाराज पर प्रो. रामगोपाल यादव की मोहर

पत्रकारों के लिए पूरी तरह असुरक्षित जिला है शाहजहाँपुर

पत्रकार जगेन्द्र हत्या कांड को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर

जगेन्द्र के आश्रितों को सरकार नहीं देगी आर्थिक सहायता

राममूर्ति को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर जेल भेजें मुख्यमंत्री

राज्यमंत्री व कोतवाल पर पत्रकार की हत्या का मुकदमा दर्ज

माफिया के दबाव में शाहजहांपुर पुलिस ने पत्रकार को फंसाया

Leave a Reply