पांच थाना प्रभारियों को हटाया, चौकी भी न संभाल पाये वेदप्रकाश को मिला थाना

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चन्द्रप्रकाश

बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चन्द्रप्रकाश ने आज उल्टी-सीधी बल्लेबाजी कर रहे कई थानाध्यक्षों के विकेट गिरा दिए। तबादलों से पांच थाने प्रभावित हुए हैं, जिनमें इस्लामनगर के राजवीर यादव और वजीरगंज के थानाध्यक्ष राजेश कश्यप का पहले से हटना तय माना रहा था। उपनिरीक्षक वेदप्रकाश गुप्ता के थाना प्रभारी बनाये जाने से हर कोई स्तब्ध है। शायद, उपनिरीक्षकों की कमी के चलते ऐसे लोगों को भी कार्यभार दे दिया गया है, जिनके थाना प्रभारी बनने की कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था।

सदर कोतवाली में तैनात वरिष्ठ उप निरीक्षक ललित मोहन को दातागंज कोतवाली का प्रभारी बनाया गया है, वहीं देवेश तोमर को गाँव प्रसिद्धपुर में हुए हत्या कांड को लेकर निलंबित कर दिया गया है। बताते हैं कि देवेश तोमर के हटने से जनता दुखी है, उन्होंने क्षेत्र में जूआ-सट्टा पूरी तरह बंद करा दिया था एवं कोतवाली में दलाल आने बंद हो गये थे, वे रिश्वत भी नहीं लेते थे, जिससे आम जनता बेहद खुश थी। पुलिस लाइन में तैनात गौरव सिंह को वजीरगंज थाने का प्रभारी बनाया गया है, यहाँ तैनात राजेश कश्यप को लाइन हाजिर कर दिया गया है। पिछले दिनों हाईवे पर हुई लूट की वारदात के बाद पीड़ितों को हवालात में बंद कर पिटाई लगाने के चलते इनका हटना तय माना जा रहा था। थाना फैजगंज बेहटा में तैनात उप निरीक्षक चरन सिंह को थाना इस्लामनगर का प्रभारी बनाया गया है, यहाँ तैनात राजवीर यादव को लाइन हाजिर कर दिया गया है। राजवीर यादव जघन्य वारदातों को रोक पाने में असफल साबित हो रहे थे एवं यौन उत्पीड़न के बाद हत्या की वारदात का खुलासा भी नहीं कर पा रहे थे, जिससे इनका हटना भी तय माना जा रहा था।

इसके अलावा थाना उघैती में तैनात नरेश कश्यप सराहनीय कार्य कर रहे थे, पिछले दिनों इन्हें हटाया गया, तो आंदोलन तक हो गया था, जिस पर डीआईजी ने तबादला निरस्त कर दिया था, लेकिन आज नरेश कश्यप को भी सदर कोतवाली में भेज दिया गया है, उनकी जगह सपा सरकार में चर्चा का विषय बने रहे वेदप्रकाश गुप्ता को सदर कोतवाली से हटा कर उघैती का प्रभारी बनाया गया है। सपा नेता स्वाले चौधरी की पिटाई कांड का वीडियो बनाने वाले सिपाही विक्रांत चौधरी को शनिवार को निलंबित किया गया है, वहीं वेदप्रकाश गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने स्वाले के साथ आये सपा नेता मोतशाम सिद्दीकी को भगाया, इसके अलावा वेदप्रकाश गुप्ता सोथा चौकी के प्रभारी थे, उस समय 27 मई 2014 को पुलिस चौकी से ही साउंड सिस्टम चोरी हो गया था, ऐसे लापरवाह वेदप्रकाश गुप्ता को थाना प्रभारी बनाने से हर कोई स्तब्ध है।

बिनावर में तैनात उप निरीक्षक अशोक सोलंकी को थाना मूसाझाग का प्रभारी बनाया गया है एवं यहाँ तैनात थानाध्यक्ष अजीत प्रताप सिंह को सहसवान कोतवाली भेज दिया गया है। तबादला सूची जिले भर में चर्चा का विषय बनी हुई है, इसके पीछे दो कारण माने जा रहे हैं। नवागत एसएसपी को सपा सरकार में चर्चित रहे दरोगाओं की जानकारी नहीं है, साथ ही यह भी माना जा रहा है कि दरोगाओं की कमी के चलते मजबूरी में ऐसे लोगों को भी थाना प्रभारी बना दिया गया है, जो चौकी भी नहीं संभाल पाये थे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

पुलिस चौकी में हुई चोरी की घटना में कार्रवाई की स्थिति शून्य

सीएम के निर्देशों के पालन में विधायक बने रोड़ा, मुजरिया एसओ लाइन हाजिर

पीड़ितों का ही उत्पीड़न करने वाले एसओ के विरुद्ध नहीं हुई दंडात्मक कार्रवाई

Leave a Reply