अफसरों को कैंपेन तक लिखना नहीं आता, आई विल वोट कैंपेन बना मजाक

डीएम कार्यालय पर लगा हस्ताक्षर अभियान का बैनर, जिसमें कैंपेन अशुद्ध लिखा है।

बदायूं के प्रशासनिक अफसरों को कैंपेन तक लिखना नहीं आता, इसीलिए आई विल वोट कैंपेन मजाक बनता जा रहा है। चौंकाने वाली बात यह है कि कलेक्ट्रेट परिसर में लगाये गये बैनर में कैंपेन अशुद्ध लिखा है, लेकिन उसे किसी अफसर ने पढ़ा तक नहीं। अगर, बैनर पर लिखे शब्दों को पढ़ा होता, तो निश्चित ही गलती पकड़ में आ गई होती, इससे स्पष्ट है कि प्रशासनिक अफसर अभियान को लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं।

उल्लेखनीय है कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन में शत-प्रतिशत मतदान करने के लिए चुनाव आयोग ने जागरूकता अभियान चलाने का निर्देश दिया है, जिसके लिए बड़ी रकम भी दी गई है। बदायूं का जिला प्रशासन शुरू से ही अभियान को लेकर गंभीर नहीं है। कभी नाबालिगों को जमा कर लेता है, तो स्कूल प्रबंधन को मिर्देश देकर रैली निकलवा देता है। मंगलवार को बच्चों द्वारा रैली निकाली गई, जिसमें अबोध बच्चे वोट फॉर मोदी का नारा लगा रहे थे, जिससे प्रशासन की बड़ी फजीहत हुई। बुधवार को हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ किया गया, जिसके लिए डीएम कार्यालय पर एक बैनर लगाया गया, जिसमें कैंपेन शब्द ही अशुद्ध लिखा है, इसे किसी अफसर ने पढ़ा होता, तो निश्चित ही गलती पकड़ में आ गई होती, लेकिन अभियान की खानापूर्ति का ही कार्य किया जा रहा है, जिससे समूचा अभियान मजाक बन कर रह गया है।

डीईओ ने की बैठक
बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने इंटर एवं डिग्री कॉलेज के प्रधानाचार्य तथा प्राचार्य, कुकिंग गैस एजेंसी तथा पैट्रोल पंप के स्वामियों सहित कैमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर आई विल वोट में सहभागिता करने की अपील की। डीईओ ने कहा कि 22 जनवरी को स्थानीय पुलिस ग्राउंड में आयोजित होने वाले कार्यक्रम आई विल वोट में केवल मतदाता जागरुकता से सम्बंधित ही स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने की इजाजत दी जाएगी। उन्होंने बस, ट्रक, टैंपो संचालकों एवं यूनियन के पदाधिकारियों से कहा कि आई विल वोट की अपील हेतु स्टीकर तैयार कराए गए हैं, जिन्हें अधिक से अधिक वाहनों पर चस्पा कराया जाए।

सिलेंडर पर लगाए जाएंगे स्टीकर
आई विल वोट की अपील का संदेश घर-घर तक पहुँचाने के लिए कुकिंग गैस सिलेण्डर्स पर स्टीकर लगाए जायेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने एजेंसी स्वामियों के साथ बैठक कर सहयोग करने की अपेक्षा की। प्रभारी अधिकारी स्वीप रणविजय सिंह को निर्देश दिए कि सभी गैस एजेंसी स्वामियों को स्टीकर उपलब्ध कराए जायें। पैट्रोल पंपों पर पहुँचने वाले वाहनों पर भी आई विल वोट के स्टीकर लगाए जायेंगे। कैमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारी को आश्वस्त किया कि वह आई विल वोट की मुहर लिफाफों पर लगाकर ही दवाएं उपलब्ध करायेंगे।

दिव्यांगों को उपलब्ध कराई जायेंगी सुविधायें
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधान सभा सामान्य निर्वाचन के मतदान दिवस को वोट डालने के लिए मतदान परिसर में आने वाले दिव्यांग मतदाताओं को समुचित सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। जनपद में स्थित सभी विधानसभाओं में 15212 दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित कर लिया गया है।

जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने बुधवार को अपने शिविर कार्यालय स्थित उप जिला निर्वाचन अधिकारी हवलदार यादव एवं अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव सहित समस्त रिटर्निंग ऑफिसर्स के साथ बैठक कर चुनाव तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने पाया कि बिसौली विधानसभा में 3077, सहसवान में 2894, बिल्सी में 1787, बदायूँ में 2031, शेखूपुर में 2859 एवं विधानसभा दातागंज क्षेत्र में 2564 कुल 15212 दिव्यांग मतदाताओं का चिन्हीकरण कर लिया गया है। डीईओ ने कहा कि मतदान दिवस को रैम्प की व्यवस्था तो कराई ही जा रही है, साथ ही स्थिति के अनुसार दिव्यांग मतदाताओं को मतदान परिसर में व्हील चेयर एवं बैसाखी आदि की भी समुचित सुविधाएं उपलब्ध कराई जायेंगी। उन्होंने कहा कि आयोग की मंशा है कि इस चुनाव में अधिक से अधिक वोटर्स मतदान करें। कोई दिव्यांग मतदाता यदि अपनी समस्या के कारण मतदान करने से बचता है, तो इसी को दृष्टिगत रखते हुए आयोग ने दिव्यांगों के लिए यह व्यवस्था शुरू की है।

विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण कार्य के दौरान दूसरी विधानसभा क्षेत्र में परिवर्तित, डुप्लीकेट एवं बाहर जा चुके मतदाताओं को भी चिन्हित किया जा रहा है। आयोग के निर्देशानुसार मतदान के दिन इन सभी मतदाताओं पर विशेष नज़र रखी जाएगी। देखा जाएगा कि यह मतदाता उसी क्षेत्र के बूथ पर मतदान कर रहे हैं, जिस विधान सभा क्षेत्र की वोटर लिस्ट में इनका नाम दर्ज है या पुनरीक्षण कार्य से पूर्व की वोटर लिस्ट के अनुसार मतदान करने पहुँचते हैं। इस अवसर पर बदायूँ विधानसभा के आरओ श्रीराम यादव, बिसौली रामदत्त राम, सहसवान दिनेश कुमार, बिल्सी विधान जायसवाल, शेखूपुर जंग बहादुर यादव तथा दातागंज विधानसभा क्षेत्र के आरओ हरिराम यादव मौजूद रहे। डीईओ ने विधानसभावार सभी आरओ से नामांकन की तैयारियों के सम्बंध में भी जानकारी हासिल की।

कन्ट्रोल रूम का टोल फ्री नम्बर जारी
विधान सभा सामान्य निर्वाचन में चुनाव सम्बंधित विभिन्न जानकारी, शिकायत/सुझाव हेतु जिला बचत कार्यालय में स्थापित कॉल सेंटर/कन्ट्रोल रूम का टोल फ्री नम्बर- 18001803712 बुधवार को जारी कर दिया गया है। इसके अलावा कन्ट्रोल रूम के प्रभारी उपायुक्त मनरेगा जय सिंह यादव के मोबाइल नम्बर- 9415597827 तथा सहायक प्रभारी अधिकारी संदीप सक्सेना के मोबाइल नंबर- 9410843636 पर कोई भी शिकायत/सुझाव दिया जा सकता है। कन्ट्रोल रूम मतगणना समाप्ति तक जारी रहेगा।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आई विल वोट अभियान फेल, नाबालिग चला रहे हैं अभियान, प्रशासन मस्त

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply