साध्वी प्राची ने अखिलेश यादव के बारे में कहे अपशब्द, प्रशासन को दी खुली चेतावनी

वीएचपी की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची

बदायूं के पुलिस-प्रशासन को चुनौती देते हुए साध्वी प्राची ने विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के सम्मेलन को मोबाईल से संबोधित किया, साथ ही प्रेस वार्ता आयोजित कर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के संबंध में अपशब्द कहे एवं प्रशासन को खुली चेतावनी भी दी।कस्बा बिसौली स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में शुक्रवार को विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल द्वारा सम्मेलन का आयोजन किया गया, इस सम्मेलन के लिए प्रशासन ने पहले विधिवत अनुमति दे दी, जबकि विवाद के चलते प्रशासन द्वारा बिसौली में धारा- 144 लगाई गई थी। गुरुवार को खुफिया विभाग ने उच्च स्तर पर रिपोर्ट भेज कर अवगत करा दिया कि शुक्रवार को साध्वी प्राची सम्मेलन में आयेंगी, तो स्थानीय पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया।

बताते हैं कि स्थानीय पुलिस ने आयोजकों से आनन-फानन में यह लिखवा लिया कि सम्मेलन में साध्वी प्राची नहीं आयेंगी, साथ ही सम्मेलन के आयोजन को दी गई अनुमति भी निरस्त कर दी, इसके बावजूद शुक्रवार को न सिर्फ सम्मेलन आयोजित किया गया, बल्कि साध्वी प्राची भी बिसौली पहुंच गई।

वीएचपी की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची ने पहले सम्मेलन को मोबाईल से संबोधित किया, जिसमें उन्होंने कहा कि मंदिर की तिजोरी से चोरी करने वालों को पकड़ने के बाद प्रशासन ने छोड़ दिया, साथ ही कहा कि पाकिस्तानी झंडा फहराने वाले देश द्रोहियों पर मुकदमा नहीं लिखा और देश भक्तों पर मुकदमा लिख दिया। उन्होंने बड़े अफसरों से बात की, तो कहा कि घटना उनके संज्ञान में नहीं है। बोली- इतनी बड़ी घटना की उन्हें जानकारी नहीं थी, लेकिन उनके लिए सड़कें सील कर दी गईं। उन्होंने कहा कि वे कत्ल करते हैं तो चर्चा नहीं होती, हम आह भी भरते हैं, तो हो जाते हैं बदनाम।

वीएचपी की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची ने बिसौली में पत्रकारों से भी बात की और उसमें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बारे में अपशब्द कहे। उन्होंने कहा कि वे आज चेतावनी देकर जा रही हैं कि प्रशासन बिसौली को मुजफ्फनगर की तरह से लहूलुहान न कराये और प्रशासन की अगर मंशा है, तो साध्वी प्राची तैयार है मैदान में आने को। उन्होंने कहा कि वे बैठक कर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेंगी, लेकिन प्रशासन आज से आँख खोल कर और कान खोल कर अच्छी तरह से सोच ले।

उल्लेखनीय है कि बदायूं जिले के कस्बा बिसौली में निकाले गये जुलुस-ए-मुहम्मदी के दौरान पाकिस्तानी झंडा लहराने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया था, जिसको लेकर तनाव उत्पन्न हो गया, साथ ही धार्मिक स्थलों का विवाद भी उछाल दिया गया, तो पुलिस ने एक पक्ष के अट्ठारह लोगों को नामजद करते हुए तीन सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया, साथ ही अगले दिन बिसौली में धारा- 144 भी लगा दी गई, तब से चिंगारी लगातार सुलग रही है।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बिसौली को मुजफ्फरनगर न बनाओ, तत्काल कार्रवाई कराओ: साध्वी प्राची

तहसील दिवस में उठा पाकिस्तानी झंडा लहराने का मुद्दा, मुकदमा लिखाने की मांग

बिसौली के हालात बिगड़े, स्थिति तनाव पूर्ण, पुलिस बल तैनात

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

साध्वी प्राची द्वारा सम्मेलन को मोबाईल से संबोधित करते हुए देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

पत्रकारों से बात करते हुए साध्वी प्राची को देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.