ब्लड कैंसर ग्रस्त छात्रा की मार्कशीट नहीं दे रहा ब्लूमिंगडेल

ब्लड कैंसर ग्रस्त छात्रा की मार्कशीट नहीं दे रहा ब्लूमिंगडेल
डीएम से वार्ता करते अधिवक्तागण।
डीएम से वार्ता करते अधिवक्तागण।

ब्लड कैंसर से ग्रस्त एक लड़की मौत से जूझ रही है। उपचार के खर्च में छूट देने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने पीड़ित लड़की के शैक्षणिक प्रमाण पत्र मांगे हैं, लेकिन ब्लूमिंगडेल स्कूल की प्रधानाचार्या संवेदनाहीन हो गई हैं और प्रमाण पत्र देने से पहले पचास हजार रूपये स्कूल में जमा करने को कह रही हैं। पीड़ित परिवार उपचार में ही बर्बाद हो गया है, ऐसे में वह स्कूल को इतनी मोटी रकम देने में असमर्थ है। स्कूल की मनमानी को लेकर अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधि मंडल आज डीएम से मिला।

ब्लड कैंसर से ग्रस्त लड़की के भाई एडवोकेट सलमान सिद्दीकी तमाम अधिवक्ताओं के साथ जिलाधिकारी से मिले, उन्होंने जिलाधिकारी को बताया कि थाना वजीरगंज क्षेत्र के कस्बा सैदपुर की मूल निवासी एवं वर्तमान में सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चौधरी सराय में रहने वाली कुमारी सहरिश युसूफ ब्लूमिंगडेल स्कूल में 12वीं की छात्रा है, जो वर्ष- 2014-15 में हाई स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुकी है।

उन्होंने बताया कि सहरिश ब्लड कैंसर से पीड़ित है, इस समय राजीव गाँधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर में उसका उपचार चल रहा है। उन्होंने बताया कि छात्रा के रूप में उपचार के खर्च में इंस्टीट्यूट द्वारा छूट प्रदान कर दी जायेगी, जिसके लिए इंस्टीट्यूट में सहरिश के शैक्षणिक प्रमाण पत्र जमा कराने होंगे।

उन्होंने बताया कि माँ ब्लूमिंगडेल स्कूल में हाई स्कूल की मार्कशीट लेने गईं, तो प्रधानाचार्य द्वारा कहा गया कि इंटर की फीस के रूप में पचास हजार रूपये जमा करा दीजिये, तभी मार्कशीट मिलेगी। पीड़ित की माँ ने उपचार में बर्बाद होने और बच्ची की जान बचाने में मदद करने की भी गुहार लगाई, लेकिन बेरहम प्रधानाचार्या का पत्थर दिल नहीं पसीजा। एडवोकेट सलमान सिद्दीकी ने जिलाधिकारी को बताया कि स्कूल प्रबंधन से भी शिकायत की गई, लेकिन उन्होंने भी मार्कशीट नहीं दिलाने में मदद नहीं की।

5 Responses to "ब्लड कैंसर ग्रस्त छात्रा की मार्कशीट नहीं दे रहा ब्लूमिंगडेल"

  1. atif nizami   August 11, 2016 at 1:10 AM

    ऎसे स्कुल की तो मानता ही खत्म होना चाहिये।और कठोर कार्यवाही होना चाहिये लगता है स्कूलों में अब मानवता नाम की कोई चीज़ नहीं रहे गई है।

    Reply
  2. Asad ahmad khan   August 11, 2016 at 10:28 AM

    Ese school ko bnd krwana chahiye,,,

    Reply
  3. zishan malik   August 11, 2016 at 6:40 PM

    Arrest d principal and shut down d school.

    Reply
  4. Rajat Vaish   August 11, 2016 at 10:30 PM

    कैसे कैसे लोग है दुनिया मे!
    कारवाही होनी चाहिए….. दोषी को सजा मिलना चाहिये.

    Reply
  5. Rajesh   August 13, 2016 at 5:15 PM

    Wise school ki manyata radd kar prasasnik kariywahi honi chaiye.

    Reply

Leave a Reply