डीपी यादव की यदु शुगर मिल के विरुद्ध जारी होगी आरसी

बदायूं के कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में गन्ना भुगतान की समीक्षा करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
बदायूं के कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में गन्ना भुगतान की समीक्षा करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।

बदायूं जिले की तहसील बिसौली क्षेत्र में स्थित यदु शुगर मिल ने किसानों का लगभग 15 करोड़ रूपया हड़प रखा है, जिसके भुगतान के लिए आरसी जारी की जायेगी। यदु शुगर मिल के विरुद्ध मुकदमा पहले ही दर्ज कराया जा चुका है। यदु शुगर मिल बाहुबलि व धनबलि नेता डीपी यादव की है, जिसके डायरेक्टर उनके छोटे बेटे कुनाल यादव हैं।

बदायूं के कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में शुक्रवार को जिलाधिकारी शंभूनाथ ने विभागीय एवं विभिन्न चीनी मिलों के साथ गन्ना भुगतान की समीक्षा की। यदु शुगर मिल बिसौली पर वर्ष 2013-14 का लगभग 15 करोड़ रूपए गन्ना भुगतान का बकाया है। जिलाधिकारी ने भुगतान न होने की लापरवाही को गम्भीरता पूर्वक लेते हुए कहा कि बकाया की वसूली हेतु आरसी जारी की जाए, शासन को भी इनके विरूद्ध पत्र लिखा जाए और एफआईआर भी दर्ज कराई जाए, जिस पर जिला गन्ना अधिकारी दिलीप कुमार सैनी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि लगभग एक सप्ताह पूर्व यदु शुगर मिल के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। जिलाधिकारी ने यदु शुगर मिल के 50 क्रय केन्द्रों को प्रतिबंधित करते हुए निर्देश दिए हैं कि दूसरे चीनी मिल गन्ना खरीदें। कासगंज जनपद की न्योली चीनी मिल पर भी जनपद के किसानों का वर्ष 2013-14 का लगभग 62 लाख रूपए बकाया होने की स्थिति में आरसी जारी की जा चुकी है।

जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि वर्ष 2014-15 में शेखूपुर चीनी मिल द्वारा 4 करोड़ 83 लाख एवं यदु शुगर मिल द्वारा 2 करोड़ 49 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि किसानों का बकाया भुगतान न करने की स्थिति में किसी भी चीनी मिल के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी, इसलिए सभी चीनी मिलें बकाया धनराशि का भुगतान करने में किसी प्रकार की शिथिलता न बरतें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

कुख्यात बाहुबली और धनबली डीपी सरकार पर भारी

शातिर दिमाग व्यक्ति का नाम है डीपी

उच्चतम न्यायालय की शरण में गईं उमलेश यादव

Leave a Reply