कूआं में दबे मजदूर को सेना ने निकाला, नारे सुन कर सैनिक भी हुए गदगद

कूआं से निकालने के बाद घायल मजदूर को एंबुलेंस की ओर ले जाते जवान।

बदायूं जिले में कुआं की ईंटें निकालते समय दबे मजदूर को भारतीय फौज ने सकुशल निकालने में सफलता प्राप्त की है। मजदूर के कूआं से बाहर आते ही फौज की जय-जयकार होने लगी। मौके पर मौजूद भीड़ ने नारे लगा कर फौज का न सिर्फ साहस बढ़ाया, बल्कि जवानों को धन्यवाद भी दिया। मजदूर को जिला अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद बरेली के लिए रेफर कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि वजीरगंज थाना क्षेत्र के गाँव लहरा लाड़पुर के लल्ला मियां ने अपने बंद पड़े कूआं की बरेली जिले के आंवला थाना क्षेत्र में स्थित गाँव गुलेली के मजदूरों को ईंटें निकालने का ठेका दिया था। तीन मजदूर बुधवार से ईंटें निकाल रहे थे। आज करीब नौ बजे मिटटी की ढांग ढह गई, जिसमें सत्यपाल उर्फ चेलू नाम का मजदूर दब गया था। घटना के बाद सैकड़ों लोग मौके पर जमा हो गये थे और मजदूर के सकुशल बाहर निकलने की कामना कर रहे थे। सूचना के बाद एसडीएम, सीओ और स्थानीय पुलिस जेसीबी, सीढ़ी, रस्सी आदि का इंतजाम कर बचाव कार्य में जुट गई थी, लेकिन स्थानीय पुलिस-प्रशासन को सफलता नहीं मिल पा रही थी। रेतीली मिटटी और जगह कम होने के साथ खराब मौसम के चलते कूआं में अंदर जाकर मिटटी हटाने का कार्य नहीं हो पा रहा था।

कूआं में मजदूर दबे होने की खबर बरेली और लखनऊ स्तर के अफसरों को गौतम संदेश पढ़ कर ज्ञात हुई, तो बरेली स्थित फौज से संपर्क किया गया, जिस पर सेना की एनडीआरएफ यूनिट की एक टुकड़ी कर्नल दीपक कुमार के नेतृत्व में मौके पर पहुंची। मौके पर पहुंचते ही सेना ने ऑपरेशन अपने हाथ में ले लिया। पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सेना ने मजदूर को सकुशल बाहर निकाल लिया। मजदूर के बाहर आते ही मौके पर जमा लोग सेना की जय-जयकार करने लगे। कर्नल दीपक ने कहा कि जरूरत पड़ने पर सेना लोगों की मदद के लिए आगे आती रहेगी।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

ईंटें निकालते समय मिटटी ढहने से कूआं में बरेली का मजदूर दबा

ऑपरेशन देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply