किशोरी नाबालिग घोषित, मुख्यमंत्री ने दिए पांच लाख

थाने में सिपाहियों की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी की माँ को चेक प्रदान करते एमएलसी बनवारी सिंह यादव।
थाने में सिपाहियों की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी की माँ को चेक प्रदान करते एमएलसी बनवारी सिंह यादव।

थाने में सिपाहियों द्वारा यौन शोषण करने के प्रकरण में आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विवेकाधीन कोष से पीड़ित किशोरी को पांच लाख रूपये की आर्थिक मदद दिला दी है। बदायूं के जिलाधिकारी कार्यालय में एडीजी (अपराध) एच.सी. अवस्थी और आईजी (जोन) बरेली विजय कुमार मीना की उपस्थिति में सपा जिलाध्यक्ष व एमएलसी बनवारी सिंह यादव ने पीड़िता की माँ को पांच रूपये का चेक प्रदान किया एवं मुख्यमंत्री की ओर से आश्वस्त किया कि सरकार आपके साथ है और भयमुक्त रहें।

थाने में सिपाहियों की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी।
थाने में सिपाहियों की दरिंदगी का शिकार हुई किशोरी।

उल्लेखनीय है कि बदायूं जिले में स्थित मूसाझाग थाना क्षेत्र के गाँव प्रहलादपुर निवासी एक महिला ने 1 जनवरी को एसएसपी को प्रार्थना देकर कहा था कि 31 दिसंबर को उसके पति आँखों का इलाज कराने बरेली गये हुए थे और वह बेटी के साथ घर पर थी। मूसाझाग थाने में तैनात सिपाही अवनीश यादव व वीरपाल यादव सिरसा गाँव की ओर से कार से आये और शौच को गई उसकी 14 वर्षीय बेटी को उठा ले गये, लेकिन बाद में उसका यौन शोषण कर छोड़ गये। महिला का आरोप है कि सिपाहियों ने उसकी बेटी के साथ थाने में दुष्कर्म किया। इस प्रकरण में मुकदमा दर्ज हो चुका है एवं दोनों सिपाहियों को बर्खास्त कर दिया गया है, साथ ही बता दें कि सोवरन सिंह यादव एक आरोपी सिपाही का सगा चाचा है और थाना मूसाझाग में ही तैनात था, इस पर पीड़ित पक्ष ने डराने-धमकाने का आरोप लगाया था, इसे लाइन हाजिर कर दिया गया है। थाना परिसर में हुई घटना के दिन हिमांशु शुक्ला रात्रि अफसर थे एवं दोनों सिपाही खुलेआम तांडव कर रहे थे, लेकिन मुंशी उदयवीर सिंह ने जीडी में उनकी रवानगी व आमद दर्ज की, इन दोनों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने होमगार्ड धीरपाल व हेत सिंह की बर्खास्तगी की संस्तुति की है और अशोक कुमार गुर्जर को थाना मूसाझाग का नया एसओ बना दिया गया है।

उधर मेडिकल परीक्षण में किशोरी नाबालिग घोषित हुई है और उसकी आयु 16 वर्ष के लगभग बताई जा रही है। अपराह्न 3:30 बजे के लगभग किशोरी को न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायिक मजिस्ट्रेट संगीता कुमारी ने धारा 164 के अंतर्गत किशोरी के बयान दर्ज किये, इसके बाद किशोरी को पुलिस सुरक्षा में परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। पुलिस की टीमें व एसटीएफ मिल कर आरोपी सिपाहियों को पकड़ने में आज भी नाकाम रहीं। सूत्र बता रहे हैं कि पुलिस ने आरोपी सिपाहियों की लोकेशन पता लगा ली है। आरोपी सिपाही इटावा जिले में बताये जा रहे हैं, जिससे पुलिस अफसर स्तब्ध हैं।

जिलाधिकारी आवास में मौजूद आईजी जोन विजय कुमार सिंह मीना, एडीजी (अपराध) एच.सी. अवस्थी, एमएलसी बनवारी सिंह यादव व सपा नेता सुरेश पाल सिंह चौहान।
जिलाधिकारी आवास में मौजूद आईजी जोन विजय कुमार सिंह मीना, एडीजी (अपराध) एच.सी. अवस्थी, एमएलसी बनवारी सिंह यादव, जिलाधिकारी शंभूनाथ व सपा नेता सुरेश पाल सिंह चौहान।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

दरोगा लाइन हाजिर व एक दरोगा और मुंशी निलंबित

सिपाहियों की गिरफ्तारी को लगाया एसटीएफ: एडीजी

यौन शोषण के आरोपी सिपाही निलंबित, आज आयेंगे एडीजी

सिपाहियों ने किशोरी को उठाया और यौन शोषण कर छोड़ा

Leave a Reply