प्रशासन चुनाव के लिए तैयार, आचार संहिता के पालन को टीमें गठित

बैठक में बोलते जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार।

बदायूं के जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा सामान्य निर्वाचन- 2017 में चुनाव खर्चां पर पैनी नज़र रखने के लिए  सहायक व्यय प्रेक्षक, वीडियो निगरानी टीम, वीडियो अवलोकन, लेखा, मीडिया प्रमाण और अनुवीक्षण समिति, उड़न दस्ता स्थैतिक टीम, व्यय अनुवीक्षण, व्यय अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं कॉल सेन्टर का गठन कर दिया है। चुनाव सम्बंधी अधिसूचना जारी होते ही सभी टीमें अपना-अपना कार्य प्रारंभ कर देंगी। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी।
गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में डीएम एवं एसएसपी महेन्द्र यादव ने सभी संबधित अधिकारियां और गठित टीमों के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों तथा कर्मचारियों के साथ बैठक कर निर्देश दिए हैं कि गठित टीमें सभी के साथ समान्य व्यवहार करते हुए आचार संहिता का पालन कराएं। स्थैतिक दल जिले की सीमा में आने वाले वाहनों की चैकिंग करेगा। अवैध शराब, रिश्वत की वस्तुओं या भारी मात्रा में नगदी, हथियार, गोला, बारूद के लाने व ले जाने पर तथा समाजिक तत्वों की आवा-जाही पर भी नज़र रखेगा। 50 हजार रुपए से अधिक की नकदी अथवा दस हजार रुपए से अधिक की ऐसी उपहार वस्तुएं ले जाई जा रही हैं, जिनका इस्तेमाल मतदाताओं को प्रलोभन दिए जाने की सम्भावना हो तो विधिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। मीडिया प्रमाण अनुवीक्षण समिति प्रिंट एवं इलैक्ट्रॉनिक मीडिया में पैड न्यूज़ पर ध्यान रखेगी। उड़न दस्ता टीम आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन और सम्बद्ध शिकायतों के सभी मामलों पर कार्रवाई करेगी। सहायक व्यय प्रेक्षक दल व्यय का लेखा-जोखा तैयार करेगा।

वीडियो निगरानी टीम जनसभा आदि की वीडियोग्राफी करेगी। वीडियो अवलोकन टीम कराई गई वीडियोग्राफी का अवलोकन कर व्यय खर्च में शामिल कराएगी। लेखा टीम नामांकन की तिथि से निर्वाचन के परिणामों की घोषणा तक खर्चां का हिसाब रखेगी। शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष एवं कॉल सेंटर पर कोई शिकायत प्राप्त होने पर पंजिका में दर्ज किया जाएगा और समाधान कराया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि चुनाव के दौरान किसी के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। अधिकारी, कर्मचारी सभी के साथ निष्पक्ष तौर पर स्वतंत्र रूप से कार्य करें। डीएम ने असलेह जमा कराने के निर्देश देते हुए पुलिस अधिकारियों को हिदायत दी है कि चुनाव के दौरान यदि कोई जिला बदर अपराधी जिले में दिखाई दिया तो सम्बंधित अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने एसडीएम से कहा कि चुनाव की अधिसूचना जारी होते ही होर्डिंग, बैनर उतरवाने का कार्य प्रारंभ कर दिया जाए।
बिना अनुमति के नहीं छोड़ सकेंगे अधिकारी मुख्यालय
जिलाधिकारी पवन कुमार ने बैठक के दौरान निर्देशित किया कि चुनाव में कोई भी अधिकारी उनकी बिना अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ सकेगा। यदि कोई अधिकारी आदेशों की अवहेलना करता है तो आईपीसी की धारा के तहत उसके विरुद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने निर्देश दिए हैं कि चुनाव अवधि में सभी लेखपाल तथा सभी ग्राम पंचायत सचिव अपने-अपने मुख्यालय पर ही निवास करेंगे और  क्षेत्र की प्रत्येक घटना पर नज़र रखेगे। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व हवलदार यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव, एसपी आरए संजय राय सहित सभी मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.