भ्रष्ट कार्यकत्री और अभियुक्तों पर डीएम ने कसा शिकंजा, गाँव से हटेगी शराब की दुकान

तहसील दिवस में डीएम से शिकायत करते पीड़ित।

बदायूं जिले में बाल विकास विभाग द्वारा संचालित पुष्टाहार वितरण योजना अन्तर्गत नियमित वितरण न कराने वाली आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के विरुद्ध कोई रियायत न बरतते हुए जांच में दोषी पाए जाने पर सीधे मुक़दमा दर्ज कराया जाए। जिलाधिकारी पवन कुमार ने कड़ा रूख अपनाते हुए गांवों से शराब की दुकानें हटाने का भी आदेश दिया।

मंगलवार को डीएम एवं एसएसपी महेन्द्र यादव ने सम्बंधित अधिकारियों के साथ तहसील बिल्सी में आयोजित तहसील दिवस में जन शिकायतों को सुना। चुनाव प्रक्रिया के बाद पहला तहसील दिवस होने के कारण शिकायतकर्ता कम संख्या में ही पहुंचे। तहसील दिवस में मात्र 30 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमें सात शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कराया गया। ग्राम सिरतौल की बविता ने शिकायत की कि आंगनवाड़ी कार्यकत्री ममता पुष्टाहार का वितरण करने के वजाए पशु पालकों को बेच देती है। डीएम ने कड़ी कार्रवाई अमल में लाने के निर्देश दिए हैं।

विद्युत् विभाग एवं खाद्यान्न वितरण न करने सम्बंधी शिकायतें ज्यादा संख्या में प्राप्त हुईं। बिना रीडिंग लिए बिल प्राप्त होने सहित बिल्सी के इसहाक नूरी ने शिकायत की कि अक्टूबर 2016 में उसके यहां मीटर लगाया था और आज तक न ही रीडिंग ली गई है और न ही बिल प्राप्त हुआ है। ग्राम राजपुर रोशन नगर के वलदेव सिंह ने कोटेदार राजेश कुमार तथा ग्राम पंचायत गढ़ी खानपुर के सोनपाल ने कोटेदार चरन सिंह की शिकायत की कि कोटेदारों ने लम्बे समय से राशन का वितरण नहीं किया है और करते भी हैं, तो अधिक मूल्य पर मानक से कम देते हैं। बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी के उपस्थित न होने के कारण डीएम ने पूर्ति निरीक्षक को हिदायत दी कि जांच कर कठोर कार्रवाई अमल में लायें।
गांव से दूर हो शराब की दुकान
ग्राम निजामपुर के सेनपाल सहित दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने शिकायत की कि शराब के ठेके की दुकान गांव से दूर खुलवाई जाए। डीएम, एसएसपी ने मामले को गम्भीरता पूर्वक लेते हुए आबकारी विभाग के निरीक्षक को हिदायत दी कि मौके पर जाकर जांच करें और शांति एवं कानून व्यवस्था की दृष्टि से उचित फैसला लें। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अभियुक्त दो दिन में गिरफ्तार करें 
बिल्सी में 16 मार्च को गर्म तेल फेंकने की घटना के सभी नामजद मुल्जिमों की अब तक गिरफ्तारी न होने के मामले को डीएम एवं एसएसपी ने गम्भीरतापूर्वक लेते हुए थानाध्यक्ष बिल्सी को निर्देश दिए हैं कि दो दिन में सभी मुल्जिमों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। बता दें कि 16 मार्च को उक्त घटना में गोपीकिशन, राधाकिशन, ओमकिशन, रामकिशन, वागीश माहेश्वरी, दिलीप माहेश्वरी, श्याम किशन, मोनू के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृृत हुआ था, जिसमें मात्र दो मुल्जिम वागीश माहेश्वरी तथा रामकिशन को ही गिरफ्तार किया गया है। बिल्सी निवासी अंकित माहेश्वरी ने तहसील दिवस में प्रार्थना पत्र देकर शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की, जिस पर डीएम एवं एसएसपी ने शेष सभी मुल्जिमों को गिरफ्तार कर जेल भेजने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर सीडीओ अच्छे लाल सिंह यादव, एसडीएम विधान जायसवाल, डीआरओ रण विजय सिंह सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।
(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply