कह देना जाकर कि शहर में सुनील सक्सेना आ गया है

बस के अंदर निरीक्षण करते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।
बस के अंदर निरीक्षण करते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।

बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सक्सेना के आज पुराने तेवर दिखाई दिए, वे स्वयं सड़क पर निकले और स्वयं जगह-जगह निरीक्षण कर उन्होंने पुलिस के होने का आम जनता को अहसास कराया, इतने भर से ही शहर के गुंडों के चेहरों का रंग फीका नजर आ रहा है।

बदायूं जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के पद पर शासन द्वारा हाल ही में सुनील कुमार सक्सेना तैनात किये गये हैं, वे कार्यभार ग्रहण करते ही मुख्यमंत्री की 23 मई को हो चुकी रैली की तैयारियों में जुट गये, जिससे आम जनता के बीच वे अब तक जा ही नहीं पाये। उन्हें आज जैसे ही समय मिला, वैसे ही टीम के साथ सड़क पर उतर आये, उन्होंने लाबेला चौराहे से निरीक्षण शुरू किया और रोडवेज बस अड्डा होते हुए इंद्रा चौक तक निरीक्षण किया।

लाबेला चौराहे पर स्कूटी सवार को निर्देश देते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।
लाबेला चौराहे पर स्कूटी सवार को निर्देश देते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।

बाइक सवारों को रोक कर उनसे कागजात देखे, राह चलते लोगों के थैले देखे, बस में घुस कर यात्रियों के थैले और सीटों के नीचे रखा सामान देखा। हूटर और पार्टियों का झंडा लगा कर घूमने वालों को कड़ी चेतावनी भी दी। बताते हैं कि रोडवेज बस अड्डे पर एक बाइक सवार स्वयं को एक विधायक का खास बताने लगा, तो उसे हड़काते हुए एसएसपी ने कहा कि बता देना जाकर शहर में सुनील सक्सेना आ गया है।

निरीक्षण अभियान के बाद एसएसपी अपने कार्यालय में भी बैठे और जिले भर से आये लोगों की समस्यायें सुन कर समाधान करने का अधीनस्थों को निर्देश दिया। यहाँ बता दें कि सुनील कुमार सक्सेना बदायूं में अपर पुलिस अधीक्षक के पद पर पूर्व में तैनात रह चुके हैं। जिले की जनता उस समय की कार्यप्रणाली याद रखे हुए है। एएसपी के रूप में वह जिले भर में जनता के बीच बेहद लोकप्रिय थे। एक सप्ताह पूर्व एसएसपी के रूप में आये, तो जिले भर के लोग पुराने तेवरों को लेकर असमंजस की स्थिति में थे। कोई कह रहा था कि अब सपा की सरकार में वैसा कुछ नहीं कर पायेंगे, तो कोई उम्र का हवाला दे रहा था, लेकिन वे आज सड़क पर उतरे, तो हर किसी के मुंह से सिर्फ “वाह” शब्द ही निकला। इस दौरान एसपी (सिटी) अनिल यादव सहित तमाम अधीनस्थ मौजूद रहे।

बस के एक यात्री का थैले देखते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।
बस के एक यात्री का थैले देखते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।

एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना की आज की कार्रवाई देख कर आम जनता कह उठी कि यह तो वैसे ही हैं, इनके तेवर बिल्कुल नहीं बदले हैं। आम जनता खुश है, वहीं शहर भर के गुंडों के चेहरे उतर गये हैं। एसएसपी के तेवर ऐसे ही बने रहे, तो शीघ्र ही शहर के ही नहीं, बल्कि जिले भर के गुंडे भूमिगत हो जायेंगे। शहर में खुलेआम चल रहे लॉटरी और सट्टे के बुकिंग सेंटर बंद होते ही जिले भर में पुलिस के प्रति जनता का विश्वास और बढ़ जायेगा।

Leave a Reply