बिल्सी क्षेत्र के ठाकुरों का सपा से मोह भंग, बैठक में नहीं दिखे

सपा की बैठक में मौजूद नेता व कार्यकर्ता और बराबर में बैठा सब-इंस्पेक्टर।
सपा की बैठक में मौजूद नेता व कार्यकर्ता और बराबर में बैठा सब-इंस्पेक्टर।

बदायूं जिले के कस्बा बिल्सी में समाजवादी पार्टी की बैठक आयोजित की गई, जिसमें बरेली में 7 दिसंबर को होने वाली महारैली को सफल बनाने का आह्वान किया गया। सपा की बैठक में बिल्सी विधान सभा क्षेत्र के ठाकुर रूचि लेते नजर नहीं आये और न ही महारैली में सहयोग करते नजर आ रहे हैं।

बिल्सी विधान सभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की बैठक बिल्सी के एक स्कूल में आयोजित की गई, जिसके मुख्य अतिथि दर्जामंत्री यासीन उस्मानी व विशिष्ट अतिथि पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य व विधान सभा क्षेत्र के प्रभारी ब्रजराज सैनी रहे। बैठक में यासीन उस्मानी ने कहा कि नोटबंदी से जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। मजदूर, किसान, गरीब सहित सभी परेशान हैं। समाजवादी सरकार ने उन्हें रोटी, कपड़ा और मकान मुहैया कराया है, जबकि भाजपा केवल जुमलों की पार्टी है। उन्होंने 7 दिसम्बर को बरेली मे होने वाली महारैली मे भारी संख्यामें पहुँचने की अपील की।

ब्रजराज सैनी ने कहा कि 15000 कार्यकर्ता बिल्सी से बरेली पहुंचने चाहिए। बोले- सपा सरकार में चारों तरफ विकास हुआ है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली और पानी सहित हर क्षेत्र में काम हुआ है। डायल- 100, ऐम्बुलेन्स, समाजवादी पेंशन का लाभ प्रत्येक व्यक्ति को मिल रहा है। सपा प्रत्याशी उदयवीर शाक्य ने कहा कि सपा सरकार मे हर वर्ग सुरक्षित है। उन्होंने भी बरेली महारैली को सफल बनाने के लिए कार्यकर्ताओं मे जोश भरा। बैठक को ब्लॉक प्रमुख पति सर्वेश यादव, जिला सचिव रईस अहमद, डोरी लाल बघेल, टेकचन्द यादव ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम मे स्वाले चौधरी, रवीन्द्र शाक्य, अवधेश यादव, राममोहन यादव, अनोखे लाल, सोवरन, ललित गिरी, खेमकरन शाक्य, दीपक गुप्ता, राकेश माहेश्वरी, चेतन माहेश्वरी, अकील, सईद अहमद, अमरचन्द प्रधान, सतीश दिवाकर, मंसूर आलम, अकील, गुड्डू फरीदी, जयपाल, मुकेश यादव, सतीश यादव, मुनेन्द्र यादव, अकरम कुरैशी, चन्द्रपाल शाक्य, राजेन्द्र शाक्य, लालता प्रसाद शाक्य आदि मौजूद रहे। संचालन मुवीन फरीदी व डा. वीपी मौर्य ने संयुक्त रूप से किया।

सपा की बैठक की महत्वपूर्ण बात यह रही कि इस बैठक में क्षेत्र के ठाकुरों ने रूचि नहीं दिखाई। बरेली में 7 दिसंबर को होने वाली सपा की महारैली को लेकर भी ठाकुरों में उत्साह नजर नहीं आ रहा, जो परंपरागत समर्थक होने के कारण समाजवादी पार्टी के नेतृत्व की चिंता बढ़ा सकता है। बैठक में एक सब-इंस्पेक्टर मंच पर नेताओं के बराबर में बैठा रहा, जो क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बरेली में 7 दिसंबर को फिर उमड़ेगा समाजवादियों का सैलाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.