शिवपाल ने काटे अखिलेश के हाथ, करीबी पार्टी से निष्कासित

प्रदेश अध्यक्ष के रूप में शिवपाल सिंह यादव
प्रदेश अध्यक्ष के रूप में शिवपाल सिंह यादव

लग रहा है कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने भाई शिवपाल सिंह यादव के समक्ष आत्म समर्पण कर दिया है। रिश्तों की लाज रखते हुए अखिलेश यादव ने भी हथियार डाल दिए हैं, वहीं प्रदेश अध्यक्ष के रूप में शिवपाल सिंह यादव बेरहमी से कार्रवाई किये जा रहे हैं। उन्होंने आज फिर कई गंभीर आरोप लगाते हुए सपा के कई नेताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया। माना जा रहा है कि सार्वजनिक रूप से फजीहत करने की जगह शीघ्र ही अखिलेश यादव कोई बड़ी चाल चलेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष के रूप में शिवपाल सिंह यादव ने आज अखिलेश के करीबी एमएलसी सुनील कुमार सिंह यादव, एमएलसी आनंद सिंह भदौरिया और एमएलसी संजय लाठर को निष्कासित कर दिया, साथ ही उन्होंने मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल दुबे, प्रदेश अध्यक्ष मो. एबाद, छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव, युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष ब्रजेश यादव को तमाम आरोपों के चलते निष्कासित कर दिया, वहीं लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप तिवारी ने त्याग पत्र दे दिया, उनके विरुद्ध भी कार्रवाई होने वाली थी।

शिवपाल सिंह यादव द्वारा कार्रवाई करने के बाद प्रदेश भर में जिला स्तरीय नेताओं ने अखिलेश के पक्ष में त्याग पत्र देने शुरू कर दिए। अखिलेश के पक्ष में कोई खून से पत्र लिख रहा है, तो दो युवा टॉवर पर ही चढ़ गये। पार्टी के अंदर हालात भयावह होते जा रहे हैं। अखिलेश ने सपा सुप्रीमो के निर्णय को स्वीकार करने की अपील की, वहीं शिवपाल आक्रामक अंदाज में चेतावनी दे रहे हैं कि जो भी गलत करेगा, उसे वे छोड़ेंगे नहीं, लेकिन सूत्रों का कहना है कि अखिलेश बढ़ी चाल चलने की तैयारी कर रहे हैं।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

राजेन्द्र चौधरी के बाद अरविंद पर चली शिवपाल की कुल्हाड़ी

अखिलेश का साहस तोड़ने को शिवपाल बनाये प्रदेश अध्यक्ष

अखिलेश ने शिवपाल से छीने पीडब्ल्यूडी और सिंचाई विभाग

Leave a Reply