बेसहारा, गरीबों के लिए वरदान है समाजवादी पेंशन: धर्मेन्द्र

  • सांसद धर्मेन्द्र यादव ने सहसवान में 2500 लाभार्थियों को बांटे समाजवादी पेंशन के परिचय पत्र 
सहसवान स्थित पन्ना लाल इंटर कालेज में समाजवादी पेंशन योजना के लाभार्थियों को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
सहसवान स्थित पन्ना लाल इंटर कालेज में समाजवादी पेंशन योजना के लाभार्थियों को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
बदायूं लोकसभा क्षेत्र के सांसद धर्मेन्द्र यादव ने सोमवार को सहसवान स्थित पन्ना लाल इंटर कालेज में तहसील क्षेत्र के 2500 समाजवादी पेंशन योजना के लाभार्थियों को परिचय पत्र वितरित करते हुए कहा कि सभी लाभार्थियों के बैंक खाते में एक करोड़ 50 लाख रूपए की धनराशि भेजी जा चुकी है। धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि अनाथ बच्चों सहित बेसहारा, गरीबों के लिए समाजवादी पेंशन वरदान साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि पेंशन से प्राप्त धनराशि से पूर्ण गुजारा तो नहीं हो सकता, लेकिन राहत अवश्य मिलती है। उन्होंने कहा कि यह पहला प्रदेश है, जहां इतनी बड़ी संख्या में गरीबों की सरकार द्वारा मदद की जा रही है। सांसद ने अतिवृष्टि के कारण फसलों के नुकसान पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों की सहायता 33 प्रतिशत तक नुकसान पर कृषि अनुदान राशि देने का निर्णय लिया है। कोई भी लेखपाल अथवा कर्मचारी किसानों को सहायता देेने में लापरवाही बरतेगा, उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों की खुशहाली और तरक्की में ही प्रदेश का विकास होगा। सांसद ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आगाह करते हुए कहा कि जितने किसानों का नुकसान हुआ है, उन सभी को कृषि अनुदान राशि उपलब्ध कराई जाए और किसानों को संतुष्ट किया जाए।
विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों पर विशेष ध्यान दे रही है, आज तक किसी भी सरकार ने एक साथ इतनी बड़ी संख्या में गरीबों की मदद नहीं की है। उन्होेंने कहा कि सांसद के प्रयासों से सरसोता, सहस्त्रबाहू के किले पर सौन्दर्यीकरण कराया गया है। सहसवान के विधायक ओमकार सिंह ने कहा कि गरीबों को धोखा देने वाले कभी कामयाब नहीं हो सकते, जो गरीबों की सहायता करता है, उन्हें उसका फल अवश्य मिलता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों की सहायतार्थ पांच सौ करोड़ रूपए की धनराशि जारी कर किसानों के नुकसान की भरपाई कराई जा रही है।
जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने कहा कि जिन गरीबों को किसी अन्य योजना से लाभान्वित नहीं किया जा सकता था, उनके लिए प्रदेश सरकार ने समाजवादी पेंशन योजना शुरू की। उन्होंने कहा कि 2500 लाभार्थियों के बैंक खाते में एक करोड़ 50 लाख की धनराशि शासन द्वारा भेजी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पेंशन योजना के लिए दो लाख आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे, जिसमें एक लाख 25 हजार पात्र पाए गए, लक्ष्य के सापेक्ष लगभग 58 हजार महिलाओं को समाजवादी पेंशन हेतु चिन्हित किया गया। जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम के संबंध में बताते हुए कहा कि अब तक बीपीएल एवं अन्त्योदय योजनान्तर्गत मात्र 15 प्रतिशत परिवारों को ही लाभ मिल रहा था। खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू होते ही 80 प्रतिशत परिवार लाभान्वित होंगे। दो रूपए किलो गेहूं, तीन रूपए किलो चावल उपलब्ध कराया जाएगा और प्रति यूनिट पर पांच किलो खाद्यान्न मिलेगा। कार्यक्रम में गुन्नौर के पूर्व विधायक प्रदीप कुमार गुड्डू, सहकारी बैंक के अध्यक्ष बृजेश यादव, अवधेश कुमार यादव, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष नुरूद्दीन सहित मुख्य विकास अधिकारी देवेन्द सिंह कुशवाहा, उप जिलाधिकारी सहसवान हरि शंकर यादव, डीआरडीए के परियोजना निदेशक रामरक्ष पाल, आजीविका मिशन के उपायुक्त आरपी सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी एमके पाठक सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। यहाँ यह भी बता दें कि सांसद और विधायक कर्मचारियों को ईमानदारी का पाठ पढ़ाते नजर आ रहे हैं, वहीं वह जिस शिविर में भाषण दे रहे हैं, वे शिविर कर्मचारियों के चंदे से ही आयोजित किये जा रहे हैं, ऐसे में कर्मचारी जनता से वसूली नहीं करेंगे, तो और विकल्प क्या हो सकता है?

Leave a Reply