12 हजार रूपये न देने पर तहसीलदार ने चपरासी को हवालात में बंद कराया

हवालात में बंद चपरासी पूरन सिंह।

बदायूं जिले की तहसील सहसवान में तैनात तहसीलदार अहिबरन सिंह की दबंगई निरंतर बढ़ती जा रही है। हालात इतने भयावह हो चले हैं कि आपातकाल जैसा लग रहा है। 12 हजार रूपये देने में असमर्थ में एक चपरासी को तहसीलदार ने हवालात में बंद करा दिया। पीड़ित चपरासी दहशत में है।

तहसील सहसवान में तैनात चपरासी पूरन सिंह का आरोप है कि तहसीलदार अहिबरन सिंह उससे 12 हजार रूपये मांग रहे हैं, वह रूपये नहीं दे पा रहा है, इससे रुष्ट होकर पहले तहसीलदार ने उसका कई जगह तबादला किया और इसके बाद भी रूपये नहीं दिए, तो आज हवालात में बंद करा दिया। चपरासी पूरन के साथ घटित हुई वारदात के संबंध में किसी ने जिलाधिकारी अनीता श्रीवास्तव को अवगत करा दिया, तो उन्होंने फोन कर चपरासी को तत्काल हवालात से मुक्त करा दिया।

पीड़ित चपरासी पूरन सिंह बेहद डरा हुआ है और फफक-फफक कर निरंतर रो रहा है। पूरन का कहना है कि रूपये न देने के कारण तहसीलदार उसके साथ कुछ और वारदात भी घटित करा सकते हैं। बताया जाता है कि तहसीलदार ने भागवत कथा आयोजित कराई थी, जिसको लेकर कर्मचारियों से उगाही की जा रही है, इस सबको लेकर पिछले दिनों तहसीलदार के विरोध में लेखपालों ने भी मोर्चा खोल दिया था और जमकर प्रदर्शन किया था।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

पीड़ित चपरासी पूरन सिंह का बयान सुनने/देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply