गाय की हत्या को गंभीरता से न लेने वाले कोतवाल इन्द्रेश कुमार चाहर निलंबित

निलंबित किये गये इंस्पेक्टर इन्द्रेश कुमार चाहर।

बदायूं जिले की कोतवाली सहसवान में तैनात लापरवाह कोतवाल इन्द्रेश कुमार चाहर को तेजतर्रार एसएसपी चन्द्रप्रकाश ने निलंबित कर दिया इन्द्रेश कुमार चाहर की लापरवाही और मनमानी करने की खबरें गौतम संदेश ने प्रकाशित की थी, जिस पर जांच की जा रही थी तेजतर्रार एसएसपी ने थाना कादरचौक के थानाध्यक्ष विजय पाल सिंह को भी लाइन हाजिर कर दिया है, यहाँ पीआरओ अश्वनी कुमार सिंह को एसओ बना कर भेजा गया है, साथ ही उघैती के एसओ रामप्रसाद शर्मा को कोतवाली सहसवान का प्रभारी एवं इस्लामनगर के एसएसआई चरन सिंह को उघैती का थानाध्यक्ष बनाया गया है एसएसपी की कार्रवाई से लापरवाहों और भ्रष्टाचारियों में हड़कंप मच गया है

उल्लेखनीय है कि सहसवान के मोहल्ला पट्टी यकीन मोहम्मद स्थित ईदगाह के पीछे रहने वाला जाकिर 13 जून को सुबह सोकर उठा, तो उसके घर के आसपास मांस फैला था एवं गाय का कटा सिर भी पड़ा था। जाकिर ने तत्काल कोतवाली पुलिस को सूचना दी, तो उससे कहा गया कि तुम भी मुस्लिम हो, इसलिए जो कुछ भी मौके पर पड़ा है, उसे इकट्ठा कर के जमीन में गाड़ दो। पुलिस का मायूस करने वाला जवाब सुन कर जाकिर ने भाजपा नेता सलमान हैदर नकवी से संपर्क किया, तो वे सीओ इरफान नासिर खान के पास पहुंच गये और फिर उन्हें पूरे घटना क्रम के बारे में बता दिया।

सीओ इरफान नासिर खान ने प्रकरण को गंभीरता से लेते कोतवाली पुलिस को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए। सीओ के निर्देश पर कोतवाली पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और मुआयना करने के बाद अज्ञात हत्यारों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का बयान दे दिया, लेकिन बाद में ज्ञात हुआ कि उक्त प्रकरण में कोतवाल ने झूठा बयान दिया था, मुकदमा दर्ज नहीं किया था, इस खबर को गौतम संदेश ने प्रकाशित किया, तो पुलिस मुख्यालय ने खबर को गंभीरता से लेते हुए प्रकरण की रिपोर्ट तलब की, जिस पर एसएसपी ने सीओ से जांच कराई। जांच में इन्द्रेश कुमार चाहर दोषी पाये गये, तो एसएसपी ने आज उन्हें निलंबित कर दिया, पर चौंकाने वाली बात यह है कि कार्यभार छोड़ने से पहले आज भी गाय कटवा दी, लेकिन सीओ इरफान नासिर खां को भनक लग गई, तो उन्होंने कार्रवाई करा दी। हत्यारों ने खून नाली में न जाये, इसलिए ताजा खून ड्रम में जमा कर रखा था, पर सीओ के सामने शातिरों की नहीं चली, सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन सफेदपोश अभी भी बचा हुआ है। यहाँ बता दें कि सहसवान व क्षेत्र में गाय तस्करी का धंधा एक कुख्यात सफेदपोश द्वारा कराया जाता है, इन्द्रेश कुमार चाहर उसके इशारे पर ही कार्य कर रहे थे, उनके निलंबन की सूचना सहसवान पहुंची, तो जनता जश्न मनाने लगी, वहीं सफेदपोश के घर मातम पसरा हुआ है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: मुस्लिम युवक ने गाय की हत्या की जानकारी दी, तो पुलिस बोली दबा दो मांस

पढ़ें: गाय की हत्या का मुकदमा दर्ज किये बिना ही कह दिया कि मुकदमा दर्ज किया

Leave a Reply