अश्लील नृत्य पर चली थी गोली, वैभव लॉन सीज न करने से पुलिस की फजीहत

वैभव लॉन में आयोजित की गई अवैध पार्टी में नाचती नर्तकी।

बदायूं के वैभव लॉन में सिर्फ कॉकटेल पार्टी आयोजित नहीं की गई थी, उसमें बड़े शहरों से बुलाई गईं बालाओं ने अश्लील नृत्य भी प्रस्तुत किया था। पुलिस ने अभी तक अवैध पार्टी आयोजित कराने वाले वैभव लॉन को सीज नहीं किया है और न ही आयोजकों को गिरफ्तार किया है, जिससे पुलिस की ही फजीहत हो रही है।

उल्लेखनीय है कि एक धनाढ्य परिवार के लड़के की रविवार को शादी है, उसने शनिवार की रात वैभव लॉन में कॉकटेल पार्टी आयोजित की थी, जिसमें नशा चढ़ने पर फायरिंग भी की गई, जिसकी सूचना पर पहुंचे कोतवाल लोकेन्द्र पाल सिंह ने मौके से कई युवाओं को हिरासत में लिया था, जिनमें ठेकेदार कमलकांत शर्मा का बेटा मोना भी था। सुबह बेटे को छुड़ाने के लिए कमलकांत शर्मा ने कोतवाल पर न सिर्फ दबाव बनाया, बल्कि उन्होंने 80 हजार रूपये रिश्वत में देने का भी प्रयास किया, जिसका कोतवाल ने वीडियो बना लिया और मुकदमा दर्ज कर कमलकांत शर्मा को भी हिरासत में ले लिया, जिसके बाद भाजपा के एक पूर्व जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक ने कोतवाली में धावा बोल दिया, वे कोतवाल पर पिता-पुत्र को थाने से ही जमानत देने का दबाव बनाने लगे, लेकिन कोतवाल ने शीर्ष अफसरों को सूचना प्रेषित कर दी। प्रदेश में हो रहे पुलिस पर हमलों से अफसर चौकन्ने थे, जिससे कुछ ही मिनट में कोतवाली में बड़ी संख्या में पीएसी और आसपास के कई थानों की पुलिस भेज दी गई। भारी संख्या में पुलिस बल देख कर भाजपाई कोतवाली से खिसक आये, जिसके बाद पुलिस ने ठेकेदार कमलकांत शर्मा और उनके बेटे मोना को न्यायालय में पेश किया, जहाँ से उन्हें जेल भेज दिया गया।

उक्त कॉकटेल पार्टी के बारे में बताया जा रहा है कि पार्टी में हर तरह के नशे का प्रबंध था एवं मस्ती के लिए मुंबई से मोटी रकम खर्च कर नर्तकियां भी बुलाई गईं थीं, जिनके अश्लील डांस पर ही नोंक-झोंक शुरू हुई और फिर दो गुटों के बीच फायरिंग हो गई। एक तरह से रेव पार्टी थी, जो कि पूरी तरह अवैध है, लेकिन पुलिस ने अभी तक वैभव लॉन को सीज नहीं किया है और न ही आयोजकों को गिरफ्तार किया है, जिससे पुलिस की उल्टा फजीहत ही हो रही है। लोग तो यहाँ तक कह रहे हैं कि मोना तो सिर्फ पार्टी का हिस्सा था, जिसे जेल भेज दिया, पर आयोजकों और वैभव लॉन के विरुद्ध कार्रवाई क्यों नहीं की गई? सवाल यह भी है कि नर्तकियां गिरफ्तार क्यों नहीं की गईं एवं सिर्फ मोना को ही जेल क्यों भेजा, बाकी लोग क्यों छोड़ दिए गये?

वैभव लॉन में आयोजित की गई अवैध पार्टी में नाचती नर्तकी।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बेटे को बचाने को ठेकेदार कमलकांत द्वारा कोतवाल को रिश्वत देने का प्रयास

कोतवाली पहुंचे भाजपाई पीएसी आते ही खिसके, कमलकांत और मोना गये जेल

रिश्वत देने का प्रयास करते हुए वीडियो देखें

Leave a Reply