बारिश के कारण छत गिरने से माँ-बेटी दफन, कोहराम मचा, इलाके में शोक

माँ-बेटी के शव और विलाप करते परिजन व मोहल्ले के लोग।

काली घटायें और घनघोर बारिश का सभी बेसब्री से इंतजार करते हैं, महिलायें तो ऐसी कल्पना से ही झूम उठती हैं, लेकिन यही दृश्य गरीबी में भयावह होता है। गरीब डरने लगते हैं कि उनकी रातें अब जाग कर कटेंगी और यह डर सही भी है। बारिश के चलते छत गिरने से माँ-बेटी दफन हो गईं। हृदय विदारक घटना ने पूरे क्षेत्र को हिला दिया है।

बदायूं जिले के थाना बिल्सी क्षेत्र में स्थित गाँव खैरी में बारिश से कमजोर छत अचानक स्वतः ही ढह गई, जिसके नीचे दबने से अमीना बेगम (42) पत्नी कमरुद्दीन और निदा (14) पुत्री कमरुद्दीन हमेशा के लिए सो गईं। परिजनों और मोहल्ले के लोगों ने मिल कर शव बाहर निकाले। घटना के बारे में पता चला, तो पूरा गाँव घटना स्थल की ओर दौड़ पड़ा, हर कोई दुखी हो उठा। घटना की जानकारी क्षेत्र में फैली, तो समूचा क्षेत्र ही शोक में डूब गया। हर कोई प्रकृति की मार और गरीबी की चर्चा करता नजर आ रहा है।

घटना की सूचना मिलते ही उपजिलाधिकारी और थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस-प्रशासन के अफसरों ने शोक ग्रस्त परिवार को ढांढस बंधाया। अचानक हुए हादसे के चलते परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply