पीआरओ का ताज फेंक कर सरताज ने ओड़ ली भगवा चादर, बना चर्चा का विषय

फेसबुक पर सरताज के द्वारा अब इस तरह की पोस्ट शेयर की जा रही हैं।

बदायूं में बड़ा राजनैतिक परिवर्तन दिखाई दे रहा है। अचानक कुछेक लोगों के अन्नदाता, धर्म, ईमान, भगवान, आदर्श, विचार और व्यवहार बदल गये हैं, ऐसे ही चौंकाने वाले बदलाव के चलते हाल-फिलहाल आबिद रजा का चर्चित पीआरओ सरताज खां शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

उल्लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी की सरकार में सदर क्षेत्र के सपा विधायक आबिद रजा को राज्यमंत्री का दर्जा भी प्राप्त था, कद और पद के अनुसार उनकी हनक-सनक तो थी ही, उनके साथ शहर में उनके पीआरओ सरताज खां की भी तूती बोलती थी। सरताज का फेसबुक एकाउंट भी पीआरओ नाम से था, उसकी स्कूटी पर मोटा-मोटा लिखा था पीआरओ दर्जा राज्यमंत्री। मात्र एक-दो महीने पहले तक सरताज से पुलिस के सिपाही और दारोगा तक कांपते थे, वह किसी को भी पुलिस चौकी और कोतवाली से छुड़ा ले जाता था और कोतवाल तक कुछ नहीं कह पाते थे। सड़क पर चलते हुए रौब जरुर दिखाता था, लाल आँखों से देखते हुए एक-दो को गाली दिए बिना उसे आनंद नहीं आता था, वही सरताज आज कल नेक इंसानों जैसी बातें कर रहा है और पूरी तरह भगवा में रंग चुका है।

जी हाँ, फेसबुक पर सरताज के नाम से अब पीआरओ शब्द हट चुका है, वह सपा और आबिद रजा के समर्थन में अब एक शब्द भी नहीं लिखता, इसके विपरीत मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की जय-जयकार करता नजर आ रहा है, उनके फोटो शेयर कर रहा है, स्वयं को सभासद प्रत्याशी के रूप में भी प्रचारित कर रहा है। सरताज में आया इतना बड़ा बदलाव ही शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोग तो यहाँ तक कहने हैं कि जहाज डूबता है, तो जहाज से सबसे पहली छलांग चूहे ही लगाते हैं। यहाँ यह भी बता दें कि सपा प्रत्याशी आबिद रजा चुनाव हार चुके हैं और अब शहर क्षेत्र से भाजपा के महेश चन्द्र गुप्ता विधायक हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आबिद के पीआरओ के भाई के विरुद्ध कार्रवाई से गुंडे भूमिगत

विधायक आबिद रजा के पीआरओ सहित 13 लोगों पर मुकदमा

Leave a Reply