नरेंद्र मोदी के निशाने पर रहे अखिलेश, धर्मेन्द्र और सपा, राहुल को भूले

बदायूं में भाजपा की परिवर्तन रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

बदायूं में शनिवार को भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन रैली को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया। नरेंद्र मोदी ने लगभग एक घंटा दस मिनट जनता को संबोधित किया। महत्वपूर्ण बात यह रही कि नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों को सिर्फ छूआ। विरोधियों पर नाम लिए बिना व्यंग्य और कटाक्ष किये, लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, धर्मेन्द्र यादव और समाजवादी पार्टी उनके भाषण का केंद्र रहे। चौंकाने वाली बात यह है कि उन्होंने राहुल गांधी का परोक्ष और अपरोक्ष रूप से कहीं भी उल्लेख तक नहीं किया, जो कांग्रेस की चिंता का विषय होना चाहिए।

नरेंद्र मोदी ने अखिलेश यादव के “काम बोलता है” नारे की धज्जियां उड़ाने का प्रयास किया, उन्होंने कहा कि काम नहीं, बल्कि उनके कारनामे बोलते हैं। उन्होंने कहा कि इस सरकार में बसपा सरकार से ज्यादा भ्रष्टाचार है, क्योंकि अखिलेश यादव ने उन्हीं अफसरों को महत्वपूर्ण दायित्व दे रखे हैं, जो बसपा सरकार में बदनाम थे।

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अच्छे दिनों को लेकर जनता से सवाल करते हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में अच्छे दिन लाने की जिम्मेदारी उन्हीं की थी। उन्होंने कानून अव्यवस्था, महिला असुरक्षा, विकास में असफलता, बेरोजगारी और किसानों की परेशानी के मुद्दे उठाते हुए कहा कि सपा सरकार फसल खरीदने में फेल है और फसल बीमा भी नहीं करा पाई, साथ ही कहा कि भाजपा की सरकार बनते ही यह सब होगा।

नरेंद्र मोदी लगभग पन्द्रह मिनट सांसद धर्मेन्द्र यादव पर विधायक आबिद रजा द्वारा पिछले दिनों लगाये गये कथित आरोपों पर बोले और जमकर व्यंग्य व कटाक्ष करते हुए कहा कि इस बारे में अगर कोई मुलायम सिंह यादव से सवाल करता, तो उनका जवाब होता कि बच्चे हैं, गलती हो जाती है, इस सबके बीच उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा करते हुए यह भी बता दिया कि उनके नेतृत्व में वैज्ञानिकों ने ऐसी मिसाइल बना दी है, जो डेढ़ किमी ऊपर हवा में ही मिसाइल को राख कर देगी।

नरेंद्र मोदी ने एमएलसी चुनाव में तीनों सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों के जीतने पर हर्ष व्यक्त किया और पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती का उल्लेख करते हुए जनता से समर्थन भी माँगा। लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के बदायूं से हारने की टीस भी दिखाई दी, तभी इस बार बदायूं आ गये, इस पर उन्होंने कहा भी कि इस बार आया हूँ, तो ब्याज सहित दे देना।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply