पौधे लगाकर पर्यावरण सुरक्षित बनायें: बनवारी सिंह यादव

पौधारोपण करते दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव, विधायक आशीष यादव व जिलाधिकारी शंभूनाथ यादव।
पौधारोपण करते दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव, विधायक आशीष यादव व जिलाधिकारी शंभूनाथ यादव।
बदायूं तहसील सदर क्षेत्र के अन्तर्गत ककोड़ा ग्रीन बेल्ट में अध्यक्ष, पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम व दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव, शेखूपुर के विधायक आशीष यादव एवं जिलाधिकारी शम्भूनाथ, एसएसपी सौमित्र यादव सहित अन्य तमाम अधिकारियों द्वारा पौधारोपण कर वन महोत्सव मनाया गया।
रविवार को वन महोत्सव के दौरान दर्जा राज्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि अधिकाधिक पौधा रोपण कर पर्यावरण को सुरक्षित बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पौधा रोपण से न केवल गांव में बल्कि पूरे प्रदेश में खुशहाली आएगी और विकास के नए रास्ते खुलेंगे। शुद्ध पर्यावरण से स्वास्थ्य एवं शिक्षा में सुधार आएगा, वहीं दूसरी ओर कृषि उत्पादन में इज़ाफा होने से किसान भी खुशहाल रहेगा। उन्होंने कहा कि बरेली-बदायूं फोर लाइन रोड निर्माण के बाद शीघ्र ही बदायूं से सैफई तक फोर लाइन रोड का निर्माण कराया जाएगा। शेखूपुर के विधायक आशीष यादव ने अपने विचार व्यक्त करते हुए अवाम से अपील की कि वन क्षेत्र को बढ़ावा देने हेतु सभी लोग मिल कर प्रयास करें और कम से कम एक-एक पौधा अवश्य लगाएं। उन्होंने ककोड़ा क्षेत्र में जंगली गायों के लिए गौशाला बनाने का सुझाव देते हुए कहा कि वह इस कार्य में पूर्ण सहयोग करते हुए अर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने प्रदेश सरकार की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार द्वारा प्रत्येक को वर्ग को ध्यान में रखते हुए योजनाएं संचालित की और लैपटॉप, बेरोजगारी भत्ता, कन्या विद्याधन, लोहिया बस सेवा आदि योजनाएं चलाईं।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में 18 वर्ष से कम आयु की लगभग तीस हजार आबादी है, यदि प्रत्येक व्यक्ति एक एक ही पौधा लगाकर उसकी देखभाल रक्षा-सुरक्षा करे, तो एक साथ तीस हजार पौधे लगाए जा सकते हैं। उन्होंने गत वर्ष सहसवान में वन महोत्सव के तहत लगाए गए पौधों का जिक्र करते हुए कहा कि वहां नाम मात्र को ही लगाए गए पौधों का नुकसान हुआ है। एसएसपी ने कहा कि पर्यावरण असंतुलन के कारण प्रकृति में विभिन्न बदलाव आ रहे हैं और इसका मुख्य कारण प्रदेश में वन क्षेत्र की कमी है, इसलिए सभी को पौधा रोपण कर उसकी सुरक्षा करके पौधे को वृक्ष का रूप देने के लिए श्रमदान करना होगा। प्रोफेसर एवं कवि डा. शैलेन्द्र कबीर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि सामाजिक चेतना पैदा कर पौधा रोपण कार्य को अभियान के रूप में चलाया जाए, तभी पूर्ण सफलता हासिल की जा सकती है। वीरेश सिंह तोमर ने अपने विचार व्यक्त किए। प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग समीर कुमार ने बताया कि जनपद में पांच लाख पौधा रोपण करने का लक्ष्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया है। अन्त में उन्होंने सभी अतिथियों का आभार भी व्यक्त किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर किया गया।

Leave a Reply