विश्वास का पर्याय बन चुके पंडित जी के पेट्रोल पंप पर डीएम का छापा, चोर सतर्क

पंडित त्रिवेणी सहाय पेट्रोल पंप के मशीन की जाँच कराते हुए डीएम अनीता श्रीवास्तव।

बदायूं शहर में वाहन चालकों के लिए विश्वास का पर्याय बन चुका है पंडित त्रिवेणी सहाय पेट्रोल पंप, लेकिन अफसर जिलाधिकारी अनीता श्रीवास्तव को सर्ब प्रथम जाँच कराने के लिए वहीं ले गये, पर वहां कोई गड़बड़ी नहीं मिली, इससे चोरी करने वाले पंप स्वामी सतर्क हो गये हैं। हालांकि जिलाधिकारी द्वारा जिले को दो सुपर जोन में बांटकर चार टीमें गठित की गई हैं।

जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव ने साथ पंडित त्रिवेणी सहाय पेट्रोल पंप पर आज छापा मारा और तेल मापने की मशीन का उसी कम्पनी के इंजीनियर से खुलवाकर आंतरिक भाग का परीक्षण कराया। मशीन में कोई भी गड़बड़ी नहीं पाई गई। वाट-माप विभाग के निरीक्षकों ने भी अपने स्तर से घटतौली की जांच की। बुधवार को डीएम ने एडीएम (प्रशासन) अजय कुमार श्रीवास्तव, सीओ उझानी प्रमोद कुमार, नगर मजिस्ट्रेट श्रीराम यादव, जिला पूर्ति अधिकारी रामेन्द्र प्रताप सिंह, भारत पैट्रोलियम कम्पनी के प्रतिनिधि हुसैन फात्मी तथा डिस्पेसिंग यूनिट मशीन के इंजीनियर्स के साथ पंडित त्रिवेणी सहाय पेट्रोल पम्प की मशीनों को खुलवाकर अपने सम्मुख सघन जांच कराई। उन्होंने कहा कि एक पेट्रोल पम्प पर जितनी कम्पनियों की डिस्पेसिंग मशीन मौजूद होंगी, उनका उसी कम्पनी के इंजीनियर से सघन परीक्षण कराया जाएगा और वाट-माप विभाग के निरीक्षक भी अपने तरीके से जांच करेंगे। किसी डिस्पेसिंग यूनिट में चिप पाए जाने अथवा छेड़छाड़ का अन्य कोई सुबूत मिलने पर केवल उसी डिस्पेसिंग यूनिट मशीन को सील किया जाएगा। सही पाए जाने की दशा में शेष डिस्पेसिंग यूनिट मशीन अपना कार्य करती रहेंगी। सघन जांच की रिपोर्ट प्रतिदिन शासन को भेजी जाएगी। वहां से अग्रिम आदेश मिलने पर ही विधिक कार्यवाही शुरू होगी।

डीएम ने कहा कि जनपद का कोई भी पेट्रोल पंप परीक्षण करने से अवशेष नहीं रहना चाहिए। सभी पेट्रोल पंपों पर स्थापित डिस्पेसिंग यूनिट मशीन के इंजीनियर से मशीन खुलवाकर आंतरिक भाग की जांच अवश्य कराई जाए। उन्होंने कहा कि जब तक सभी पेट्रोल पंपों की जांच प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो जाती, तब तक सभी टीमें कार्य करती रहेंगी। रिपोर्ट प्रतिदिन शासन को भेजी जाएगी। सम्पूर्ण जनपद में जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चन्द्र प्रकाश के निर्देशानुसार पेट्रोल/डीजल पंपों पर छापामारी की जा रही है। जिले को दो सुपर ज़ोन में बांटा गया है। एक सुपर ज़ोन की ज़िम्मेदारी एडीएम प्रशासन, एसपी सिटी अनिल कुमार यादव, डीएसओ को सौंपी गई है। वहीं दूसरे सुपर ज़ोन के लिए एडीएम वित्त एवं राजस्व हवलदार यादव, एसपी आरए संजय राय अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को लगाया गया है।

निर्देशानुसार प्रथम टीम एसडीएम सदर की निगरानी में तहसील सदर एवं नगर क्षेत्र के पेट्रोल पंपों का परीक्षण करेगी। दूसरी टीम एसडीएम दातागंज की निगरानी में दातागंज तहसील क्षेत्र के पेट्रोल पंप की जांच करेगी। द्वितीय सुपर ज़ोन के निर्देशानुसार एसडीएम बिसौली की निगरानी में बिसौली क्षेत्र तथा एसडीएम बिल्सी के निगरानी में तहसील बिल्सी एवं सहसवान के पेट्रोल पंपों की जांच की जाएगी। सभी टीमों में पुलिस क्षेत्राधिकारियों के अलावा वाट-माप एवं आपर्ति विभाग के निरीक्षकों को भी लगाया गया है। सभी टीमों में इंडियन ऑयल, भारत पैट्रोलियम, हिन्दुस्तान पैट्रोलियम, एस्सार ऑयल के अधिकारियों के ही अलग-अलग कम्पनियों की डिस्पेसिंग यूनिट मशीन के इंजीनियर्स भी टीमों में लगाए गए हैं। जनपद में इंडियन ऑयल कम्पनी के 50, भारत पैट्रोनिलिम के 22, हिन्दुस्तान पैट्रोलियम के 25 तथा एस्सार ऑयल के 10 कुल 107 पेट्रोल पंप हैं। सभी पेट्रोल पंपों/रिटेल आउटलेट की डिस्पेसिंग यूनिट मशीन को खुलवाकर आंतरित भाग का परीक्षण कराया जाएगा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)
छापामार कार्रवाई को देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply