कार्यशैली व व्यवहार से पहचान बनायें प्रशिक्षु अफसर: आलोक

  • आई.ए.एस. एवं पी.सी.एस. प्रशिक्षु अधिकारियों की मुख्य सचिव से शिष्टाचार भेंट
 आई.ए.एस. एवं पी.सी.एस. प्रशिक्षु अधिकारियों से शिष्टाचार भेंट करते मुख्य सचिव आलोक रंजन।
आई.ए.एस. एवं पी.सी.एस. प्रशिक्षु अधिकारियों से शिष्टाचार भेंट करते मुख्य सचिव आलोक रंजन।
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने कहा कि युवा अधिकारियों को अपनी कार्यशैली एवं अच्छे व्यवहार से आम नागरिकों में बेहतर पहचान बनानी चाहिये। उन्होंने कहा कि अपने शासकीय सेवाकाल के दौरान कभी भी तैनाती के बारे में प्रयास नहीं करनी चाहिये। उन्होंने कहा कि कोई भी तैनाती खराब नहीं होती, अधिकारी को अपने तैनाती स्थान पर अच्छे कार्य करने हेतु निरन्तर प्रयास करना चाहिये। उन्होंने कहा कि अच्छे कार्य एवं व्यवहार से अधिकारियों की स्वयं आम नागरिकों के मध्य एवं शासन-प्रशासन में पहचान बनती है और स्वतः ही अच्छे-अच्छे स्थानों पर बिना प्रयास किये कार्य करने का अवसर प्राप्त होता है।
मुख्य सचिव आज लखनऊ स्थित शास्त्री भवन के अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में आई.ए.एस. बैच- 2014 एवं पी.सी.एस. बैच- 2011 के प्रशिक्षु अधिकारियों से शिष्टाचार भेंट कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि कभी भी अपने अधीनस्थ अधिकारियों की रिपोर्ट पर विश्वास नहीं करना चाहिये, बल्कि स्वयं फील्ड में जाकर प्राप्त रिपोर्ट का सत्यापन अपने स्तर पर अवश्य करना चाहिये। उन्होंने कहा कि युवा अधिकारियों को अपने कार्यों की प्रगति को आंकड़ों पर न पेश कर, बल्कि जमीनी हकीकत पर पेश करना चाहिये।
श्री रंजन ने यह भी कहा कि मिलने वाले आम नागरिकों के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों के साथ भी मधुर व्यवहार कर उनकी समस्याओं के समाधान हेतु सकारात्मक विचार रखना चाहिये। उन्होंने कहा कि अपने शासकीय सेवाओं के दौरान फील्ड विजिट कर कार्यों की प्रगति एवं आम नागरिकों की समस्याओं का समाधान करना चाहिये। उन्होंने कहा कि आम नागरिकों से मिलने पर ही योजनाओं के क्रियान्वयन की प्रगति की सही जानकारी प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि अच्छे अफसर को कभी भी एकपक्षीय निर्णय नहीं लेना चाहिये।
शिष्टाचार भेंट के समय उ.प्र. प्रशासन एवं प्रबन्धक अकादमी के महानिदेशक नेतराम, प्रमुख सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक राजीव कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।इस अवसर पर 2014 बैच के प्रशिक्षु आई.ए.एस. अधिकारी अभिषेक आनंद, अक्षय त्रिपाठी, अर्चना वर्मा, अवनीश कुमार राय, एफ. निखिल टीकाराम, गौरंग राठी, इशा दुहन, महेन्द्र कुमार मीना, मनीष बंसल, मृदुल चौधरी, नेहा जैन, प्रेम रंजन सिंह, रवि रंजन, संदीप कुमार, राहुल पाण्डेय, मेधा रूपम तथा 2011 बैच के प्रशिक्षु पी.सी.एस. अधिकारी चन्दन कुमार पटेल, अमित कुमार, त्रिभुवन, मो. मोइनुल इस्लाम, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, माया शंकर यादव, गरिमा सिंह, रत्नप्रिया, डाॅ. सृष्टि धवन, सलिल कुमार पटेल, शिव प्रताप शुक्ला, रामजी मिश्रा, हिमांशु कुमार गुप्ता, अमित कुमार भट्ट, जुबेर बेग, राजेश कुमार यादव, विनीत कुमार सिंह, अमिताभ यादव, बिपिन कुमार, सन्तोष कुमार, गुलशन, ममता मालवीय, धीरेन्द्र प्रताप, सुखवीर सिंह, ऋतु पुनिया, सुशील प्रताप सिंह और वन्दना त्रिवेदी मौजूद रहे।

Leave a Reply