सांसद के ड्रीम प्रोजेक्ट का महानिदेशक ने किया निरीक्षण

पत्रकारों से बात करते चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक प्रो. बी.एन. त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया व मेडीकल कॉलेज के नोडल अधिकारी डा. नीरज यादव।
पत्रकारों से बात करते चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक प्रो. बी.एन. त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया व मेडीकल कॉलेज के नोडल अधिकारी डा. नीरज यादव।
सांसद धर्मेन्द्र यादव के 545 करोड़ के ड्रीम प्रोजेक्ट राजकीय मेडीकल कॉलेज का आज चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक प्रो. बी.एन. त्रिपाठी ने  निरीक्षण किया। प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि बदायूं के ग्राम गुनौरा वाजिदपुर स्थित बन रहे राजकीय मेडीकल कॉलेज में अगले शिक्षा सत्र से सौ एमबीबीएस डाक्टरों के शिक्षण एवं प्रशिक्षण का कार्य शुरू हो जाएगा और सितम्बर, 2015 के अन्त तक ओपीडी की सेवाओं का लाभ भी जनता को मिलने लगेगा।
शनिवार को प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक प्रो. बी.एन. त्रिपाठी ने मुख्य विकास अधिकारी/प्रभारी जिलाधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया तथा मेडीकल कॉलेज के नोडल अधिकारी डा. नीरज यादव, डा. एनसी यादव के साथ बदायूं पहुंचकर राजकीय मेडीकल कॉलेज का सघन निरीक्षण किया। उन्होंने मेडीकल कॉलेज की निर्माण प्रगति पर असंतोष व्यक्त करते हुए कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम के अभियन्ताओं को हिदायत दी कि निर्माण कार्य की गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए निर्माण कार्य में तेजी लाई जाए, जिससे माह सितम्बर के अन्त तक मुख्यमंत्री द्वारा ओपीडी का लोकार्पण कराकर जनता को चिकित्सीय सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकेें। उन्होंने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि ओपीडी शुरू करने के लिए चिकित्सकों, चिकित्सीय उपकरणों एवं अन्य स्टाफ की नियुक्ति हेतु प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में शिक्षा सत्र 2016-17 में सौ एमबीबीएस डाक्टरों को शिक्षा एवं प्रशिक्षण दिए जाने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप निर्माण कार्य में तेजी लाकर ओपीडी तथा प्रशिक्षण कार्य शुरू कराने की कवायद जारी है। उन्होंने कहा कि किसी कार्य के शुरूआती दौर में कुछ समस्याएं अवश्य रहती है, लेकिन उनका निदान करते हुए निश्चित अवधि में सभी कार्य पूरे कराने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि जनता की सुविधा के साथ डॉक्टर और स्टाफ को भी यहाँ बेहतरीन सुविधा दिलाई जायेंगी, इसी क्रम में कॉलेज कैंपस में ही उच्चस्तरीय गुणवत्ता से ओत-प्रोत इंटर कॉलेज भी बनाया जायेगा।
प्रभारी जिलाधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया ने कार्यदायी संस्था निर्माण निगम के अधिकारियों को हिदायत दी कि चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक द्वारा दिए निर्देशों के अनुपालन में निर्माण कार्य में तेजी लाकर निर्धारित अवधि तक पूरा किया जाए। एसएन मेडीकल कॉलेज आगरा से आये नोडल अधिकारी डा. नीरज यादव ने कहा कि मेडीकल कॉलेज में चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होने पर क्षेत्रीय लोगों को मेडीकल कॉलेज से बहुत लाभ मिलेगा और उनको दूसरे स्थानों पर जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी। बता दें कि दिसम्बर, 2013 में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा मेडीकल कॉलेज का शिलान्यास किया गया था। 545 करोड़ रूपए की लागत से तैयार किए जा रहे मेडीकल कॉलेज को लगभग 150 करोड़ रूपए की धनराशि उपलब्ध करा दी गई है। निर्माण लागत के अलावा 25 करोड़ रूपए की राशि अलग से फर्नीचर तथा उपकरण आदि के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इस अवसर पर एसएन मेडीकल कॉलेज के प्रशासनिक अधिकारी राम प्रकाश शर्मा, उमा शंकर, जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम, प्रभारी सीएमओ डा. नरेन्द्र कुमार सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply