सपा सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ने लखनऊ में किया मेट्रो का ट्रायल

ट्रेन को झंडी दिखाते सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और साथ में हैं आजम खान।
ट्रेन को झंडी दिखाते सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और साथ में हैं आजम खान।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पर मेट्रो के कारण देश भर के लोगों की नजरें जमी हुई हैं। सत्ता पक्ष के लोग उत्साहित थे, वहीं विपक्षी लगातार आशंका व्यक्त करते रहे हैं, ऐसे में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा सुप्रीमो की उपस्थिति में इतिहास रचते हुए लखनऊ मेट्रो रेल के ट्रायल रन का शुभारम्भ कर दिया, इस दौरान अखिलेश यादव बेहद उत्साहित नजर आ रहे थे। उन्होंने ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मेट्रो ट्रेन डिपो का लोकार्पण भी किया एवं सांसद डिम्पल यादव ने मेट्रो आॅपरेटर्स को चाभी सौंपी।

इस अवसर पर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री एवं राज्य सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश जैसा विकास कार्य देश में कहीं और नहीं कराया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे आदि महत्वपूर्ण परियोजनाओं को कम से कम समय में बनाकर अन्य सरकारों के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा, इलाज एवं सिंचाई की मुफ्त व्यवस्था करके समाज के सभी वर्गों को राहत देने का काम किया।

मुलायम सिंह ने कहा कि किसानों को सुविधा दिए बिना देश की तरक्की सम्भव नहीं है। उन्होंने आगाह किया कि कम कृषि उत्पादन का खमियाज़ा पूरे देश को भुगतना होगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी विचारक डाॅ. राम मनोहर लोहिया हमेशा कहा करते थे कि वादाखिलाफी करना भी भ्रष्टाचार है। उन्होंने इस बात पर खुशी जतायी कि प्रदेश की वर्तमान राज्य सरकार ने जनता से किए सभी वायदों को पूरा करने का काम किया है। नौजवानों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का आग्रह करते हुए कहा कि गरीबी को मिटाने के लिए हर हाथ को काम देना जरूरी है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना देश की सबसे कम समय में पूरी होने वाली मेट्रो परियोजना है। इसके लिए उन्होंने मुख्य सलाहकार डाॅ. ई. श्रीधरन तथा प्रबन्ध निदेशक कुमार केशव सहित इस कार्य में लगे सभी कार्मिकों की सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसके गाजियाबाद, नोएडा सहित कई बड़े नगरों में मेट्रो रेल परियोजना पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का कार्य शुरू होने जा रहा है। दोबारा सरकार बनने पर वाराणसी मेट्रो रेल परियोजना का भी काम शुरू होगा।

चाबी सौंपती सांसद डिंपल यादव, साथ में हैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और आजम खान।
चाबी सौंपती सांसद डिंपल यादव, साथ में हैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और आजम खान।

श्री यादव ने कहा कि नगरों और मुख्य रूप से लखनऊ की आबादी तेजी से बढ़ रही है, जिससे आए दिन ट्रैफिक जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है। यहां तक कि कई बार गम्भीर रोगियों से युक्त एम्बुलेंस भी फंस जाती हैं। इसको ध्यान में रखते हुए लखनऊ जैसे बड़े नगर में विश्वसनीय सार्वजनिक यातायात व्यवस्था का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब यह परियोजना पूरी हो जाएगी तो लखनऊ वासियों को काफी राहत मिलेगी।

राज्य सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने जनता से किए गए सभी वायदों को पूरा किया है। जहां तक लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना की बात है, इसके लिए पहले से वायदा नहीं किया गया था। लेकिन वक्त की जरूरत को देखते हुए समाजवादी सरकार ने इस परियोजना को भी समय से पूरा करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश में आधारभूत सुविधाओं के विकास, बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने तथा स्वास्थ्य की सर्वसुलभ एवं बेहतरीन सुविधा उपलब्ध कराने जैसे कई महत्वपूर्ण काम किए हैं, जिससे प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली आयी है और उनका जीवन स्तर ऊंचा उठा है।

श्री यादव ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार विकास के मामले में राजनीति नहीं करती है। इसीलिए वर्षों से लम्बित जनपद रायबरेली के प्रस्तावित एम्स के लिए उनकी सरकार ने भूमि उपलब्ध कराने का काम किया। इसी प्रकार जनपद गोरखपुर में भी एम्स की स्थापना के लिए राज्य सरकार ने हर सम्भव मदद दी है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि देश के सबसे लम्बे एक्सप्रेस-वे को वर्तमान राज्य सरकार ने मात्र 22 माह में पूरा कराकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ने का काम किया है। प्रदेश का कोई ऐसा जनपद नहीं है, जहां समाजवादी सरकार द्वारा किसी बड़ी परियोजना को अंजाम तक न पहुंचाया गया हो।

मुख्यमंत्री ने जनपद सोनभद्र से वाराणसी तथा भदोही से मिर्जापुर आदि नगरों को एक-दूसरे से जोड़ने से सम्बन्धित विभिन्न परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जिला मुख्यालयों को 04 लेन की सड़कों से जोड़ने का काम पूरी गम्भीरता से चलाया है, जिसका लाभ प्रदेश के किसानों, नौजवानों, मजदूरों सहित समाज के सभी वर्गों को मिलेगा। प्रदेश सरकार ने संतुलन बनाकर प्रदेश के सभी क्षेत्रों एवं वर्गों के विकास के लिए काम किया है। जहां देश की सबसे लम्बी एक्सप्रेस-वे परियोजना बनायी गयी, वहीं आगरा से इटावा लायन सफारी तक साइकिल हाईवे में बनाया गया। अगर राज्य सरकार ने 55 लाख गरीब परिवारों को समाजवादी पेंशन देने का काम किया है तो 18 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को निःशुल्क लैपटाॅप वितरित कर उन्हें तकनीक से जोड़ने का काम किया।

इसी प्रकार ग्रामीण इलाकों में आवासहीनों के लिए लोहिया आवास योजना तथा गांवों में सी. सी. रोड के निर्माण के लिए जनेश्वर मिश्र ग्राम योजना सहित कई परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर चलाया गया। इस प्रकार पिछले साढ़े चार साल में समाजवादी सरकार ने जिस पैमाने पर काम किया, इतने बड़े पैमाने पर किसी अन्य राज्य सरकार द्वारा नहीं किया गया। जनपद रामपुर की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा इस जनपद में बड़े पैमाने पर काम कराया गया। अगली बार सत्ता में आने के बाद रामपुर में भी मेट्रो रेल परियोजना संचालित करने पर विचार किया जाएगा।

ट्रेन में बैठे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद डिंपल यादव, कैबिनेट मंत्री आजम खान, शिवपाल सिंह यादव और बराबर में खड़ी हैं अपर्णा सिंह यादव।
ट्रेन में बैठे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद डिंपल यादव, कैबिनेट मंत्री आजम खान, शिवपाल सिंह यादव और बराबर में खड़ी हैं अपर्णा सिंह यादव।

नगर विकास मंत्री आजम खां ने मेट्रो रेल परियोजना को निर्धारित समय में पूरा होने को प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के व्यक्तिगत प्रयासों से यह परियोजना समय से पूरी हो रही है। कार्यक्रम को समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, भाषा संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रख्यात कवि गोपाल दास ‘नीरज’, मधुकर जेटली एवं लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के प्रबन्ध निदेशक कुमार केशव आदि ने भी सम्बोधित किया।

इस अवसर पर आजमगढ़ के जिलाधिकारी सुहास एल. वाई., लेफ्टिनेण्ट जनरल ए. के. सिंह, लखनऊ विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग के अध्यक्ष अब्बास रज़ा नय्यर, समाज सेवी रामेश्वर नाथ मिश्र एवं प्रमोद कुमार सिंह चौधरी, साहित्यकार दीन मोहम्मद दीन, मशहूर चिकित्सक डाॅ. मंसूर हसन के अलावा अतुल तिवारी, रचना गोविल, मुराद खान, शिखा द्विवेदी एवं अर्चना सतीश को यश भारती पुरस्कार दिए गये।

इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, अपर्णा सिंह यादव सहित अन्य तमाम मंत्री एवं मुख्य सचिव राहुल भटनागर, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष नवीन चन्द्र वाजपेयी, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक आदि उपस्थित रहे।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आज हर्बल पार्क का शिलान्यास, कल होगा मेट्रो का शुभारंभ

मुख्यमंत्री का भाषण सुनने/देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply