दुष्कर्म और हत्या के इरादे से गुरु जी ने अगवा किया शिष्य

घटना के संबंध में जानकारी देते हुए किशोर और उसके पिता।
घटना के संबंध में जानकारी देते हुए किशोर और उसके पिता।

बदायूं जिला अपराधों को लेकर विश्व भर में कुख्यात हो ही चुका है, इसके बावजूद यहाँ विशेष सतर्कता नहीं बरती जा रही। हालात इतने भयानक हो चले हैं कि अब दरिंदे किशोरों को भी शिकार बनाने लगे हैं। एक गुरु जी ने दुष्कर्म और हत्या के इरादे से अपने ही शिष्य को अगवा कर लिया, लेकिन परिजनों की सतर्कता के चलते आरोपी गुरु जी शिष्य को छोड़ कर भाग गये।

घटना बदायूं जिले के थाना अलापुर क्षेत्र में स्थित कस्बा ककराला की है, यहाँ के वार्ड संख्या- 12 निवासी इंतकाम का 12 वर्षीय पुत्र 9 फरवरी को दोपहर के समय गौसिया मस्जिद के निकट मैदान में खेल रहा था, जहां से ककराला के ही फईम उर्फ अल्लामा और दानिश बाइक से उसे अगवा कर ले गये और एक मकान में ले जाकर बंद कर लिया। दोनों आरोपी अध्यापक बताये जाते हैं, जिनमें से एक ने किशोर को पढ़ाया भी है।

इंतकाम ने पुलिस को घटना की सूचना दी, तो प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने परिजनों की निशानदेही पर छापा मारना शुरू कर दिया, जिससे किशोर को देर रात आरोपी छोड़ कर भाग गये। मुक्त होने के बाद किशोर ने बताया कि उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया था एवं पेंट उतार कर नंगा कर दिया था, लेकिन पुलिस की गाड़ी का सायरन सुन कर अपहृता उसे छोड़ गये। इंतकाम का आरोप है कि अपहृता दुष्कर्म के बाद उसके बेटे की हत्या कर देते। किशोर बरामद होने के बाद पुलिस ने संबंधित धाराओं में मुकदमा परिवर्तित नहीं किया है, जिससे अपहृताओं को सीधा लाभ मिल रहा है।

Leave a Reply