कैराना पर मुजफ्फरनगर के पूर्व जिलाधिकारी का बड़ा खुलासा

सूर्य प्रताप सिंह
सूर्य प्रताप सिंह

मुजफ्फरनगर जिले का कैराना विवादों में है।  हिंदू परिवारों के पलायन को लेकर कैराना राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय बना हुआ है, जिसे सत्ता पक्ष के नेता मनगढ़ंत अफवाह और विरोधी दलों के नेता गंभीर मुददा बता रहे हैं, ऐसे में मुजफ्फरनगर जिले के पूर्व जिलाधिकारी ने बड़ा खुलासा किया है

जी हाँ, सूर्य प्रताप सिंह मुजफ्फरनगर जिले के जिलाधिकारी रहे हैं, उनका कहना है कि वहां के हालात इतने खराब हैं कि कुछ मोहल्लों में पुलिस दिन में नहीं जा सकती। सूर्य प्रताप सिंह का बयान सरकार को संकट में डाल सकता है। उन्होंने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा है, वह निम्नलिखित है … 

सावधान उत्तर प्रदेश… चुनावी दौर है!
“कैराना” को संभालो… कहीं देर न हो जाये… स्थिति कभी भी विस्फोटक हो सकती है !!!
मैं मुजफ्फरनगर का कलेक्टर रहा हूँ और कैराना की आवोहवा को अच्छी तरह जानता हूँ।
कोई मेरी बात के अन्यथा मायने न निकाले… मैं सभी मज़हबों का सम्मान करता हूँ।
‘कैराना’ में कुछ ऐसे मोहल्ले हैं, जहां पुलिस दिन में भी नहीं घुस सकती… गुंडागीरी… अवैध असलाह… पशु तस्करी एक राजनैतिक पार्टी के पूर्व सांसद के संरक्षण में दिन-दहाड़े होती है। इस पूर्व सांसद के अहाते से एक तस्करी 25 किलो सोना और कई कुंतल चरस बरामद हुई थी।
पुलिस कोतवाली में एक मज़हबी विशेष का दरोगा ही तैनात करना पड़ता है, नहीं तो ‘कैराना’ को सम्भालना मुश्किल हो जाये।
चुनाव के दौरान जब मैं वहां था तो मजिस्ट्रेट व पुलिस का रात में तो कुछ मोहल्लों में घुसने का सवाल पैदा नहीं होता था… दिन में भी किसी ‘अपराधी’ को पकड़ने या तो कोई जाता नहीं था या फिर विशेष व्यवस्था करनी पड़ती थी… हमने चुनाव के दौरान 10 दिन का अभियान चला कर इस पूर्व सांसद व उनके गुर्गों को जेल की हवा खिलाई थी और कैराना को गुंडों से मुक्त कराया था।
आज तो और भी भयावह स्थिति होगी… क्योंकि गुंडों व अपराधियों को खुला राजनैतिक संरक्षण है।
किसी को बुरा लगे तो माफ़ करना… यदि विश्वास नहीं है तो जाकर देख लो…
परन्तु मुझे आशंका है कि इस मामले में ठोस कार्रवाही की जगह सियासत जरूर होगी और और चुनावी रंग में… पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आग लगाने की कोशिश जरूर होगी…
उ.प्र. की वर्तमान सरकार दंगा रोकती नहीं है… स्वयं करवाने में विश्वास अधिक रखती है… ऐसी मेरी आशंका है।
एक बार कैराना से अपराधियों को पुनः ‘फ्लश-आउट’ का प्रयास जरूर होना चाहिए… परन्तु वर्तमान सरकार से अपेक्षा करना बेकार है… चुनाव बाद की प्रतीक्षा करनी होगी।।।।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सूर्य प्रताप सिंह ने दिया स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का आवेदन

मस्ती करने वाली सपा की जनता करेगी ऐसी-तैसी: सूर्य प्रताप

सर जी, क्या टल्ली हो गए हो: सूर्यप्रताप सिंह

Leave a Reply