सरकार की ब्राडिंग के लिए व्हाट्सएप पर आया सूचना विभाग

लखनऊ स्थित सूचना मुख्यालय में आयोजित मण्डलीय सूचना अधिकारियों की बैठक में निर्देश देते सूचना निदेशक आशुतोष निरंजन।
सूचना मुख्यालय में आयोजित मण्डलीय सूचना अधिकारियों की बैठक में निर्देश देते सूचना निदेशक आशुतोष निरंजन।

उत्तर प्रदेश के सभी मण्डलों और जिलों की जनसमस्याओं तथा सफलता की कहानियों की जानकारी अब मुख्यमंत्री सहित संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों तक तत्काल पहुंच सकेंगी। राज्य के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ने व्हाट्सएप पर एक ग्रुप बनाया है, जिसमें सूचना निदेशक के साथ पूरे प्रदेश के सभी उपनिदेशक, सहायक निदेशक, सूचनाधिकारी तथा प्रभारी सूचनाधिकारी जोड़े गये हैं। इस ग्रुप के जरिये जिलों, मण्डलों का राज्य मुख्यालय से पलक झपकते सम्पर्क हो सकेगा और ज़रूरी सूचनाओं, दस्तावेजों, वीडियो-फोटो आदि का आदान-प्रदान भी। आज यहां सूचना मुख्यालय में आयोजित मण्डलीय सूचना अधिकारियों की बैठक में सूचना निदेशक आशुतोष निरंजन ने कहा कि अगले महीने से वह जिलों, मण्डलों  में खुद जाकर प्रचार-प्रसार के कार्यों की प्रगति की समीक्षा करेंगे।
सूचना निदेशक ने कहा कि प्रदेश के सभी ग्राम प्रधानों के साथ भी सूचना विभाग एसएमएस के माध्यम से जरूरी सूचनाओं का आदान-प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि बुनियादी तौर पर उत्तर प्रदेश में ‘युवा जोश-युवा सोच’ की हर क्षेत्र में कामयाबी को हाईलाइट किया जाना है। इसी कंसेप्ट पर बिग एफएम पर ‘यूपी की कहानियां’ नामक कार्यक्रम के अन्तर्गत उ0प्र0 की ब्रांड-छवि के व्यापक प्रचार-प्रसार के महत्व पर बल देते हुए सूचना निदेशक ने कहा कि हर जिले में आम आदमी की कामयाबियों की कम से कम पांच कहानियां तैयार करके सूचना मुख्यालय को हर माह भेजी जायें।
सूचना निदेशक ने संबंधित अधिकारियों को आदेश दिये कि विभाग के सभी मण्डल और जिला स्तरीय अधिकारियों के मोबाइल पर इंटरनेट की सुविधा तत्काल उपलब्ध करायी जाये और उन्हें हाई-फाई तकनीक के अधिकतम मैगापिक्सल स्पष्टता वाले आधुनिक डिजीटल कैमरे उपलब्ध कराये जायें। इसके साथ मण्डल और जिले के अधिकारियों को प्रचार-प्रसार की आधुनिकतम तकनीकों का प्रशिक्षण भी अगले महीने तक दिलाने की व्यवस्था की जाय।
जिलों और मण्डलों में शासकीय प्रचार-प्रसार के लिए मुख्यालय से एलईडी वैन भेजने के फैसले की जानकारी देते हुए निदेशक ने कहा कि ये एलईडी वाहन हरेक मण्डल में अनेक दिन कार्यरत रहेंगी, ताकि मण्डल के हर जिले में विभिन्न क्षेत्रों में शासन की कामयाबियों का प्रचार हो सके।
श्री निरंजन ने इस बैठक में बताया कि हाल ही में शासन द्वारा किये गये तबादलों की वजह से अब पूरे प्रदेश के हर जिले में कम से कम एक अतिरिक्त जिला सूचनाधिकारी की सुनिश्चित उपलब्धता हो गयी है। उन्होंने आगाह किया कि तबादला किये गये किसी भी अधिकारी द्वारा यदि अपने नये पद पर कार्यभार ग्रहण नहीं किया जायेगा, तो उसके विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने मण्डलीय अधिकारियों से कहा कि जिलों में यदि किसी अधिकारी ने तबादला आदेश का पालन नहीं किया है, तो उसकी सूचना अविलम्ब मुख्यालय भेजे।
सूचना निदेशक ने कहा कि शासन की उपलब्धियों, फैसलों तथा जनहित के कामकाज का प्रचार-प्रसार सही तरह से चले इसके लिये जिलों और मण्डलों को आवश्यक सभी संसाधन शीघ्र उपलब्ध करा दिये जायेंगे। निरंजन ने कहा कि जिलों और मण्डलों में कलेक्ट्रेट एवं कमिश्नरियों में लगे होर्डिग्स पर हर बार नये कार्यक्रमों को डिस्प्ले किये जाने की व्यवस्था की गयी है। जहां भी ये होर्डिग्स आंधी-तूफान या किसी भी कारण से क्षतिग्रस्त होंगे, उन्हें संबंधित कम्पनी द्वारा  तत्काल अपने खर्चे पर बदला जायेगा। इस पर सूचना विभाग के अधिकारी निगाह रखें।
गीत-नाट्य के माध्यम से शासकीय प्रचार-प्रसार कराने की परम्परागत मनमर्जी की शैली अब नहीं चलेगी। सूचना निदेशक ने कहा कि प्रदेश के कलाकारों से जनता को बदलते परिवेश के हिसाब से रोचक ढंग से जानकारी देने हेतु विशेषज्ञों को कार्यशाला में बुलाकर उन्हें प्रशिक्षित भी कराया जायेगा। बैठक में अपर निदेशक डाॅ. ए.के. चौरसिया, संयुक्त निदेशक डाॅ. अशोक कुमार शर्मा, स्टाफ आफीसर दिनेश कुमार गुप्ता, मुख्यालय के विभिन्न प्रभागों के अधिकारियों, के साथ ही प्रदेश के सभी मण्डल मुख्यालयों पर तैनात उपनिदेशक, सहायक निदेशक, जिला सूचना अधिकारी तथा अपर जिला सूचना अधिकरियों ने भी भाग लिया।

Leave a Reply