दलितों, पिछड़ों और अशिक्षितों को छोड़ जागरुकों को किया जा रहा और जागरूक

आई विल वोट की श्रंखला बनाये हुए बच्चे।

बदायूं में चुनाव आयोग के निर्देश पर चलाया जा रहा आई विल वोट जागरूकता अभियान शीर्ष अफसरों की ब्रांडिंग और संभ्रांत वर्ग के मनोरंजन का कार्यक्रम बन कर रहा गया। जागरूकता अभियान पूरी तरह फेल रहा, लेकिन समारोह भव्य होने के चलते आकर्षण का केंद्र बना रहा। मतदान करने को जागरूक करने के लिए प्रशासन को दलितों, पिछड़ों, अशिक्षितों और ग्रामीणों के बीच जाना था, लेकिन प्रशासनिक अफसरों ने जागरूक लोगों के बीच में मुख्यालय पर ही अपने मनोरंजन के उद्देश्य से भव्य समारोह आयोजित कर लिया है, जो अभी जारी है। भव्य समारोह की असफलता यह रही कि समारोह में आम जनता ने भाग नहीं लिया। सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों के बच्चों, अध्यापकों को बुला लिया गया एवं प्रशासन की चापलूसी में जुटे रहने वाले कुछेक लोग आ गये, जिससे समारोह निष्फल ही कहा जायेगा।

पुलिस परेड ग्राउन्ड में आयोजित किये गये समारोह का शुभारंभ मंडलायुक्त प्रमांशु, जनपद न्यायाधीश नरेन्द्र कुमार जौहरी तथा व्यय प्रेक्षक एम. मुरली मोहन ने फीता काटकर और माँ सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित कर किया गया। भव्य समारोह को रोचक बनाने में जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार एवं प्रशासन ने कोई कसर नहीं छोड़ी। रंगोली, ड्रोन कैमरा, गुब्बारा, पतंगबाजी तथा आई विल वोट की श्रंखला मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहे।

बच्चों ने मनमोहा
मदर एथीना, ब्लूमिंगडेल, राजाराम, इस्लामियाँ, श्रीकृण्ण, केदारनाथ, पार्वती आर्य कन्या, शिवदेवी सरस्वती विद्या मंदिर, राजकीय इंटर कॉलेज, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज सहित ऐस इंस्टीट्यूट, गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय सहित अन्य तमाम स्कूल-कॉलेजों के छात्र-छात्राओं ने मतदाता जागरुकता से सम्बंधित मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। स्कूली बच्चों द्वारा ‘‘बूढ़े हो या जवान, सभी करें मतदान’’, ‘‘सारे काम छोड़ दो, सबसे पहले वोट दो’’, ‘‘युवा कहें डंके की चोट, आई विल वोट’’, ‘‘नारी कहे घूंघट की ओट, आई विल वोट’’ जैसे स्लोगन लिखी तख्तियों के साथ शहर के प्रमुख स्थानों पर जागरुकता रैली भी निकाली गई।

आई विल वोट लिखी पतंगों का प्रदर्शन करते अफसर।

आकर्षण का केंद्र रही भव्य आतिशबाजी

पुलिस परेड ग्राउन्ड में देर रात आतिशबाजी तथा कैंडिल शो भी आयोजित किया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महेन्द्र यादव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों तथा मतदाताओं ने रंग-बिरंगी आतिशबाजी और कैंडिल शो का भी जमकर आनन्द लिया, जो अभी जारी है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

अफसरों को कैंपेन तक लिखना नहीं आता, आई विल वोट कैंपेन बना मजाक

आई विल वोट अभियान फेल, नाबालिग चला रहे हैं अभियान, प्रशासन मस्त

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.