हिन्दुस्तान अखबार के नाम से धोखाधड़ी, प्रबंधन की फजीहत

हिन्दुस्तान अखबार के नाम से धोखाधड़ी, प्रबंध तंत्र की फजीहत
हिन्दुस्तान अखबार के नाम से धोखाधड़ी, प्रबंधन की फजीहत

बदायूं जिले में हिन्दुस्तान अखबार के नाम पर लंबे समय से धोखाधड़ी हो रही है। अब तक लाखों रुपये का घपला हो चुका है, लेकिन हिन्दुस्तान प्रबंधन संज्ञान में भी नहीं ले रहा, जिससे प्रबंध तंत्र की ही फजीहत हो रही है। लोगों को लगने लगा है कि धोखाधड़ी के पीछे हिन्दुस्तान से जुड़ा कोई शातिर व्यक्ति हो सकता है।

ताजा प्रकरण सिविल लाइंस थाना क्षेत्र का है। बताते हैं कि बाबू राम मार्केट में ट्रैक्टर्स पार्टस के व्यापारी अवधेश गुप्ता से हिन्दुस्तान अखबार के नाम से दो युवक मिलने आये। हिन्दुस्तान अखबार द्वारा दिये जा रहे ऑफर के संबंध में समझाते हुए उन्होंने बताया कि साढ़े चार सौ रुपये में एक वर्ष तक अखबार दिया जायेगा। व्यापारी अवधेश गुप्ता को ऑफर पसंद आया, तो उन्होंने साढ़े चार सौ रुपये का चैक दे दिया, जिसकी उन्हें रसीद भी दी गई।

बताते हैं कि अवधेश गुप्ता ने अखबार में साढ़े चार सौ रुपये के चैक से 85 हजार रुपये निकालने का समाचार पढ़ा, तो उन्होंने अपना खाता भी देखा। खाते का अवलोकन करने के बाद वे स्तब्ध रह गये, क्योंकि साढ़े चार सौ रूपये के चैक द्वारा उनके खाते से 45 हजार रुपये निकाले जा चुके थे।

इसके अलावा हिन्दुस्तान अखबार में प्रकाशित विज्ञापनों को लेकर भी घपले का मामला प्रकाश में आ रहा है। बताते हैं कि दातागंज तहसील क्षेत्र की तमाम ग्राम पंचायतों और जिले की कई नगर पालिकाओं से एक व्यक्ति ने स्वयं के नाम से चैक प्राप्त किये हैं। सूत्र का कहना है कि हिन्दुस्तान अखबार से जुड़े किसी व्यक्ति ने हिन्दुस्तान अखबार के नाम से भी किसी बैंक में खाता खुलवा लिया है। सूत्र का कहना है कि हिन्दुस्तान अखबार में प्रकाशित विज्ञापनों के चैक फर्जी खाते में डाल कर धन आहरित कर लिया जाता है और प्रबंधन को नकदी भेज दी जाती है। विज्ञापन के रेट और चैक में अंतर रहता है, जिसकी भनक हिन्दुस्तान प्रबंधन को नहीं लग पा रही है, लेकिन स्थानीय कार्यालय में तैनात कुछ लोगों को धोखाधड़ी की जानकारी है, पर वे मौन हैं, जिससे मिलीभगत की संभावना बढ़ती जा रही है, इसीलिए हिन्दुस्तान प्रबंधन की फजीहत हो रही है।

Leave a Reply