गर्मी से राहत, शहर बना तालाब, तीन भाईयों सहित चार डूबे

जल से लबालब नजर आती गंगा।
जल से लबालब नजर आती गंगा।

बदायूं में भी आज जमकर बारिश हुई। एक ओर लोगों को भीषण गर्मी और उमस से राहत मिली, वहीं गंगा में जलस्तर बढ़ने से चिंता बढ़ गई है, साथ ही तीन सगे भाइयों सहित चार बच्चे तालाब में डूबने से हाहाकार मच गया है।

आकाश में बादल सुबह से ही लहलहाते नजर आ रहे थे, लेकिन दोपहर बाद झमाझम बारिश हुई। बारिश होते ही मौसम में बदलाव आ गया। भीषण गर्मी और उमस से लोगों को राहत मिली, वहीं आधा शहर तालाब बन गया। पानी की निकासी की व्यवस्था न होने से गलियाँ पानी से भर गईं, जिससे लोगों को परेशानी हुई।

बारिश के चलते गंगा में जलस्तर बढ़ गया है, जिससे पड़ोसी गांवों के लोगों के साथ प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। स्नान के दौरान कोई घटना घटित न हो, इसलिए कछला घाट पर पीले रंग की रस्सी बाँध कर बेरीकेटिंग की जायेगी और चेतावनी चिन्ह भी लगाए जायेंगे। आवश्यकतानुसार नाव, मोटर वोट और गोताखोरों की व्यवस्था की जायेगी। जिलाधिकारी ने एसएसपी व नगर मजिस्ट्रेट के साथ कछला में जाकर व्यवस्थाओं को भी देखा।

उधर मुजरिया थाना क्षेत्र के गाँव रसूला में तालाब में भैंस लेकर गये चार बच्चे डूब गये। बताते हैं कि पहले एक बच्चा डूबने लगा, जिसे बचाने के चक्कर में तीन और डूब गये। डूबने वाले बच्चों में सुनील (15), पुष्पेन्द्र (12), सुखवेन्द्र (10) सगे भाई हैं, जो केदार मौर्य के बेटे हैं। कुल चार भाइयों में तीन डूब गये, इनके साथ पुरान (10) पुत्र गंगा सहाय भी डूबा है। मृतकों के परिवारों में कोहराम मचा हुआ है, वहीं पूरे गाँव में शोक व्याप्त है। परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

चक्रवात में नाव फंसने से 15 डूबे, डीएम-एसएसपी ने किया दौरा

Leave a Reply