घर पर चढ़ कर की अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत, कई घायल

गली में पड़े ईंटों के टुकड़े और गली के बाहर लगी भीड़।
गली में पड़े ईंटों के टुकड़े और गली के बाहर लगी भीड़।

वर्षों से चली आ रही रंजिश में चुनाव धार लगाने का काम कर रहे हैं। बीती रात ऐसे ही दो यादव गुटों में जमकर न सिर्फ गोलीबारी हुई, बल्कि एक व्यक्ति मारा गया और कई लोग घायल हुए हैं। पीड़ित की ओर से 17 लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। मृतक के घर कोहराम मचा हुआ है एवं अधिकांश व मुख्य आरोपी फरार हैं।

दुस्साहसिक वारदात बदायूं जिले में स्थित कस्बा इस्लामनगर की है। बताते हैं कि इस्लामनगर थाना क्षेत्र के गाँव मौजुद्दीनगर ढकनगला निवासी सुरेश यादव और धर्मपाल यादव के बीच पिछले कई वर्षों से रंजिश चल रही है। दोनों के बीच कई बार मारपीट और गोलीबारी हो चुकी है। अब दोनों ही लोग कस्बा इस्लामनगर में रहते हैं। सुरेश यादव वर्तमान में ब्लॉक प्रमुख है, उनकी पत्नी जिला पंचायत सदस्य है और इस बार सुरेश यादव लश्करपुर ओईया वार्ड से जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव लड़ रहे हैं, साथ ही ब्लॉक प्रमुख पद पर पुनः काबिज होने के उद्देश्य से क्षेत्र पंचायत सदस्यों को भी लड़ा रहे हैं, वहीं धर्मपाल यादव वर्तमान में प्रधान हैं एवं लश्करपुर ओईया वार्ड से ही जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव लड़ रहे हैं और गाँव-गाँव क्षेत्र पंचायत सदस्यों के चुनाव में रूचि ले रहे हैं।

घटना स्थल पर मौजूद पुलिस।
घटना स्थल पर मौजूद पुलिस।

बताते हैं कि शनिवार को दोपहर में चुनाव प्रचार करते हुए दोनों लोग गाँव सोराह में आमने-सामने आ गये थे, जहाँ सुरेश यादव के साथ हाथापाई कर दी गई, इसी अपमान का बदला लेने के लिए सुरेश यादव ने बीती रात करीब नौ बजे धर्मपाल यादव के घर धावा बोल दिया। डेढ़ दर्जन से भी ज्यादा लोगों ने करीब आधा घंटा अंधाधुंध गोलियां बरसाईं, जिसमें धर्मपाल यादव की सबसे मजबूत ढाल, उनका भतीजा मारा गया, साथ ही धर्मपाल यादव सहित एक दर्जन से अधिक लोग घायल हैं, जिन्हें संभल जिले के कस्बा चन्दौसी में स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार चल रहा है। धर्मपाल यादव की ओर से 17 लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया है।

Leave a Reply