बरेली के चार शातिर युवक नकली करेंसी के साथ लाबेला गेस्ट हाउस से गिरफ्तार

प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी देते एएसपी (सिटी)।

बदायूं जिले की पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस ने नई करेंसी के नकली नोट बनाने वाले दबोचे हैं। गिरफ्तार किये गये चारों शातिर युवकों को जेल भेज दिया गया है, इनमें एक सभाषद भी है। घटना चर्चा का विषय बनी हुई है।

एसएसपी के निर्देश पर एएसपी (सिटी) के नेतृत्व में माफियाओं के विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा है। मुखबिर की सूचना पर बीती रात पुलिस टीम लाबेला चौराहे पर स्थित लाबेला गेस्ट हाउस पहुंची, तो यहाँ कमरा नंबर- 12 में चार संदिग्ध युवक दिखाई दिए, जिन्हें हिरासत में लेने के बाद पूछताछ की गई, तो पुलिस वाले भी स्तब्ध रह गये। हिरासत में लिए गये युवक नकली करेंसी बदायूं के बाजार में खफाने आये थे। एएसपी (सिटी) ने बताया कि बरेली जिले के कस्बा मीरगंज स्थित मोहल्ला सराय खां निवासी नासिर पुत्र लईक सभाषद भी है, इसके साथ इसके मोहल्ले के ही निवासी इरशाद पुत्र शफीक, रहीश पुत्र शरीफ और आमिर पुत्र शरीफ पकड़े गये हैं।

उक्त चारों शातिर युवकों से पांच सौ और दो हजार के 32000 की धनराशि के नकली नोट बरामद हुए हैं एवं 97720 रूपये असली बरामद हुए हैं, जो संभवता नकली करेंसी बाजार में चला कर जुटाये गये हैं। शातिर युवकों को पकड़ने में सदर कोतवाल राजीव कुमार शर्मा, एसएसआई नरेश कश्यप, एसआई सत्य सिंह, सिपाही मोहित, कौशल और भूपेन्द्र का सहयोग रहा, इन्हें 5000 रूपये नकद पुरस्कार दिया गया है, लेकिन पुलिस ने अभी यह नहीं बताया कि पकड़े गये युवक नकली करेंसी स्वयं छापते हैं, या कहीं और से जुटाते हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply