आशुतोष मौर्य का साझीदार भ्रष्ट मुकेश जौहरी योगेन्द्र सागर का भी है चहेता

पूर्व विधायक योगेन्द्र सागर, बीच में भ्रष्ट मुकेश जौहरी एवं पूर्व सपा विधायक आशुतोष मौर्य “राजू”।

बदायूं जिले में कुछ नहीं बदला। जो दलाल, जो भ्रष्टाचारी, पिछली सरकार में मौज मार रहे थे, वही अब मौज मार रहे हैं। जो सपाईयों के चहेते थे, वही अब भाजपाईयों के सबसे ज्यादा खास नजर आ रहे हैं। बिसौली विधान सभा क्षेत्र की स्थिति सर्वाधिक भयावह है। नलकूप ऑपरेटर भ्रष्ट मुकेश जौहरी फैजगंज बेहटा नगर पंचायत में ईओ का पद लंबे समय से हथिया हुए है, इस पर बिल्सी नगर पालिका का अतिरिक्त कार्यभार भी है, जबकि कयास यह लगाये जा रहे थे कि भाजपा सरकार आते ही भ्रष्ट मुकेश जौहरी अपने मूल तैनाती स्थल पर भेज दिया जायेगा, लेकिन योगेन्द्र सागर का आशीर्वाद मिलने से मौज मार रहा है।

उल्लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक आशुतोष मौर्य “राजू” और पूर्व विधायक योगेन्द्र सागर के बीच कट्टर राजनैतिक प्रतिद्वंदिता है। गत चुनाव में योगेन्द्र सागर के बेटे कुशाग्र सागर ने भाजपा प्रत्याशी के रूप में आशुतोष मौर्य “राजू” को हराया था, इससे पहले आशुतोष मौर्य “राजू” योगेन्द्र सागर की पत्नी बसपा प्रत्याशी प्रीती सागर को हरा चुके हैं, साथ ही जब बिल्सी विधान सभा क्षेत्र सुरक्षित था, तब यह दोनों इधर भी भिड़ चुके हैं। योगेन्द्र सागर की पत्नी प्रीती सागर जिला पंचायत सदस्य भी हैं और आशुतोष मौर्य “राजू” की बहन मधू चंद्रा जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, जिनके विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने का योगेन्द्र सागर निरंतर प्रयास कर रहे हैं। गत चुनाव के दिन योगेन्द्र सागर को वजीरगंज थाना क्षेत्र के गाँव कालूपुर में घेर लिया गया था, इस दौरान बड़ा बवाल हुआ था, अर्थात इन दोनों के बीच राजनैतिक प्रतिद्वंदिता व्यक्तिगत रंजिश का रूप ले चुकी है, इसके बावजूद भ्रष्ट मुकेश जौहरी दोनों को बराबर प्रिय है।

सूत्रों का कहना है कि पूर्व सपा विधायक आशुतोष मौर्य “राजू” और भ्रष्ट मुकेश जौहरी का बिसौली क्षेत्र में सीबीएसई बोर्ड का साझे में स्कूल है। आशुतोष मौर्य “राजू” की पत्नी बिल्सी नगर पालिका की निवर्तमान चेयरमैन हैं, जहां ईओ के रूप में भ्रष्ट मुकेश जौहरी ही तैनात है, ऐसे में लोग यह सवाल अक्सर करते देखे जा सकते हैं कि आशुतोष मौर्य “राजू” का चहेता भ्रष्ट मुकेश जौहरी योगेन्द्र सागर का भी प्रिय क्यों हैं? लोग यह भी सवाल करते हैं कि कहीं ऐसी स्थिति हो, जब भ्रष्ट मुकेश जौहरी को आशुतोष मौर्य “राजू” और योगेन्द्र सागर में से किसी एक को चुनना हो, तब वह किसे चुनेगा? संबंधों के आधार पर स्पष्ट है कि भ्रष्ट मुकेश जौहरी आशुतोष मौर्य “राजू” के ही पाले में जायेगा, फिर योगेन्द्र सागर उसे अपनी गोद में क्यों बैठाये हुए हैं? आम जनता के बीच सवाल उठ रहे हैं, जिनका जवाब देने वाला कोई नहीं है, लेकिन इस सबका दुष्परिणाम भाजपा जरूर झेलेगी। यह भी बता दें कि बरेली जिले की नगर पंचायत दियोरनियाँ में भ्रष्ट मुकेश जौहरी की नियुक्ति ट्यूबवैल ऑपरेटर के पद पर हुई थी, लेकिन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार और राजनैतिक संरक्षण के बल पर शातिर दिमाग भ्रष्ट मुकेश जौहरी 12 वर्षों से बदायूं जिले में ईओ का पद हथियाए हुए है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

पढ़ें: अब भाजपा नेताओं की गोद में खेलने लगा भ्रष्ट व कथित ईओ मुकेश जौहरी

ईओ का पद हथियाने वाले भ्रष्ट मुकेश जौहरी ने अर्जित की अकूत संपत्ति

मतदान केन्द्रों के बाहर बवाल, पूर्व विधायक को बनाया बंधक, गाड़ी तोड़ी

Leave a Reply