अखिलेश यादव ने आबिद रजा को किया पार्टी से निष्कासित

विधायक आबिद रजा
विधायक आबिद रजा

बदायूं लोकसभा क्षेत्र के लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव पर मनगढ़ंत आरोप लगा कर चर्चा बटोरने का प्रयास कर रहे सदर विधायक आबिद रजा को समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी से निष्कासित कर दिया। आजम खान की तरह पार्टी को ब्लैकमेल करने का प्रयास करने वाले आबिद रजा का राजनैतिक कैरियर चौपट हो गया है।

उल्लेखनीय है कि सदर विधायक आबिद रजा सांसद धर्मेन्द्र यादव के विरुद्ध अपने कुछ चहेते पत्रकारों के मध्यम से मनगढ़ंत खबरें प्रकाशित करा रहे थे, लेकिन सांसद ने खबरों को संज्ञान में नहीं लिया, तो आबिद ने पत्नी फात्मा रजा के सहारे बिना नाम लिए हमला बोल दिया, पर सांसद ने फिर भी भाव नहीं दिया, इसके बाद आबिद ही खुल कर मैदान में आ गये और नाम लिए बिना सांसद को बदनाम करने लगे, जिसे पार्टी ने गंभीरता से लिया और अनुशासनहीनता मानते हुए प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आबिद रजा को निष्कासित कर दिया।

समाजवादी पार्टी से विद्रोह कर रहे आबिद रजा पहले से ही बसपा की शरण में जाने का प्रयास कर रहे थे, पर सूत्रों का कहना है कि कारगुजारियां संज्ञान में आने के कारण बसपा हाईकमान ने लेने से मना कर दिया। कांग्रेस में सलीम इकबाल शेरवानी पहले से ही बैठे हैं और भाजपा की ओर उनका रास्ता जा ही नहीं सकता, इसलिए माना जा रहा है कि आबिद रजा का राजनैतिक कैरियर चौपट हो गया।

8 Responses to "अखिलेश यादव ने आबिद रजा को किया पार्टी से निष्कासित"

  1. Anoop yadav   August 7, 2016 at 2:52 PM

    लोकप्रिय सांसद जो की विकास की गंगा में प्रथम श्रेणी जाने बाला जिला बदायूं ही नही बल्कि प्रदेश की कोने कोने में उल्लेखित सांसद भैया पर आरोप लगाने बाले का यही अंजाम होना चाहिए।।।

    श्री अखलेश यादव ,श्री धर्मेंद्र यादव जिन्दावाद जिन्दावाद।।।

    जय समाजवाद।।।

    Reply
    • saqib khan   August 7, 2016 at 4:45 PM

      is tarah samajwadi party ka bhut smartt m.l.a. mr.aabid raza ko aj cheif minister mr. akhilesh yadav ne out of party kiya mujhe bhut dukh aur khed h badaun ki sar zmee pr aisa smart m.l.a. hona ab mushkil sa lgta h infuture me

      Reply
      • सोनू यादव   August 7, 2016 at 6:31 PM

        माननीय मुख्यमंत्री जी के इस फैसले का हम स्वागत करते हैं। जिसे जमीन से लेकर लालबत्ती तक का सफर तय करा दिया वह ऐसे लोकप्रिय सांसद पर ऊंगली उठा रहे है। अपने गिरेबान मे झांककर नही देखते । बिल्कुल सही निर्णय है पार्टी का इससे मिलेगी मजबूती।

        Reply
  2. Dharmendra Kumar songs   August 7, 2016 at 4:49 PM

    Decision der se liya gaya lekin bahut shi

    Reply
  3. Qamar   August 7, 2016 at 7:44 PM

    S.p party famly party banti ja rhi h

    Reply
  4. रामबाबू वार्ष्णेय बबराला   August 7, 2016 at 10:10 PM

    सांसद जी बहुत ही बढ़िया व् नेकदिल हैं । ये हमारा सौभाग्य है क़ि वह हमारे सांसद हैं ।

    Reply
  5. Pradeep Yadav   August 7, 2016 at 10:42 PM

    S.P ke Badaun Ke jeet bilkul He saaf ho gai..

    Reply
  6. प्रतीक दुबे   August 8, 2016 at 1:12 AM

    बदायूँ का इतिहास है बदायूँ की राजनीति में विद्यायक बदलता ही है।

    Reply

Leave a Reply