सहकारी चीनी मिल कर्मचारी ने कार्यालय में ही की आत्म हत्या

कार्यालय में ही कुर्सी पर उमेश तिवारी का शव।
कार्यालय में ही कुर्सी पर उमेश तिवारी का शव।

हृदय विदारक वारदात घटित हुई है। भुगतान न होने से परेशान एक कर्मचारी ने कार्यालय में ही गोली मार कर आत्म हत्या कर ली। घटना के चलते हाहाकार मच गया है। मौके पर सैकड़ों आक्रोशित लोग जमा हैं।

घटना बदायूं जिले के थाना सिविल लाइन क्षेत्र में स्थित शेखूपुर की है, जहाँ सहकारी चीनी मिल के अंदर कार्यालय में ही एक कर्मचारी ने सिर में गोली मार कर आत्म हत्या कर ली। बताते हैं कि मृतक कर्मचारी उमेश तिवारी वेतन न मिलने से परेशान चल रहे थे। भुगतान को लेकर दो दिन पहले उनका जीएम से विवाद भी हुआ था। सूत्रों का कहना है कि मदद करने की जगह जीएम ने नौकरी से निकलवाने की उमेश को चेतावनी दी थी, जिससे उमेश तिवारी बहुत परेशान चल रहे थे।

बताते हैं कि उमेश तिवारी रोज की तरह समय से कार्यालय आये, लेकिन कुछ देर बाद उनके कार्यालय से गोली चलने की आवाज आई, तो लोग उधर दौड़ पड़े। कार्यालय के अंदर का दृश्य देख कर लोग हाहाकार कर उठे। उमेश तिवारी का शव कुर्सी पर ही था, साथ ही पास में ही तमंचा पड़ा था।

घटना की सूचना फैलते ही कर्मचारी मौके पर जमा हो गये। बाहरी लोग भी सैकड़ों की संख्या में पहुंच गया, जो घटना को लेकर चकित और दुखित नजर आ रहे हैं। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है। औपचारिकतायें पूरी कर शव मुख्यालय लाने की प्रक्रिया चल रही है, साथ ही पुलिस जाँच में जुट गई है। पुलिस जांच के बाद ही बता सकेगी कि आत्म हत्या है, या हत्या और घटना का कारण क्या है?

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

धरने पर बैठे चीनी मिल कर्मी की मौत, शासन-प्रशासन मौन

शेखूपुर व यदु मिल किसानों का 60.75 करोड़ डकारे बैठे हैं

Leave a Reply