विकास में रूचि न लेने वाले अफसर जिला छोड़ दें: धर्मेन्द्र यादव

सांसद धर्मेन्द्र यादव जिला स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक लेते हुए।
सांसद धर्मेन्द्र यादव जिला स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक लेते हुए।
बदायूं में एमएसडीपी (मल्टी सेेक्टोरल डेवलपमेंट प्लान) अन्तर्गत बनाए गए आंगनवाड़ी केन्द्रों के निर्माण कार्य में हेराफेरी करने तथा गुणवत्ता खराब पाए जाने पर कार्यदायी संस्था पैकफेड के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराए जाने के साथ ही नर्सिंग होम के रजिस्ट्रेशन के नाम पर अवैध वसूली प्रकरण में दोषियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी। सांसद धर्मेन्द्र यादव ने अधिकारियों को हिदायत भी दी कि विकास कार्यों में विशेष रूचि न लेने वाले अफसर जिला छोड़ जायें।
उक्त निर्णय गुरूवार को विकास भवन स्थित सभाकक्ष में आयोजित जिला स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक में सर्वसम्मति से लिए गए। बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव की अध्यक्षता तथा आंवला के सांसद धर्मेन्द्र कश्यप की सह-अध्यक्षता वाली बैठक में कार्यदायी संस्था पैकफेड द्वारा कराए गए निर्माण कार्यों पर असंतोष व्यक्त किया गया एवं निर्माण कार्य पूरा न करने तथा गुणवत्ता का ध्यान न रखने पर एफआईआर दर्ज कराने का निर्णय लिया गया। बैठक में सांसद धर्मेन्द्र यादव ने बरेली-बदायूं फोरलेन, राजकीय मेडिकल कॉलेज, राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज, नाधा स्थित इंटर कॉलेज एवं डिग्री कॉलेज के निर्माण की गहन समीक्षा करते हुए अधिकारियों को हिदायत दी कि विशेष रूचि देते हुए विकास कार्य पूर्ण कराए जाएं अन्यथा जिला छोड़कर दूसरे जनपद में चले जायें। उन्होंने ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पूरा करने पर कार्यदायी संस्था सेतु निगम को बधाई दी।
आंवला के सांसद धर्मेन्द्र कश्यप ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनान्तर्गत बनाई गई ग्राम किशनी महेरा की सड़क की गुणवत्ता पर असंतोष जताते हुए कई सड़कों पर जल भराव होने के कारण निर्माण कार्य कराने का प्रस्ताव रखा। शहर विधायक/वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष दर्जा राज्यमंत्री आबिद रज़ा ने पीएचसी एवं सीएचसी पर चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने हेतु बायोमैट्रिक मशीन लगाने का प्रस्ताव रखते हुए कहा कि आने जाने के समय मशीन द्वारा उपस्थिति दर्ज कराई जाये। उन्होंने रजिस्ट्रेशन के नाम पर डॉक्टरों से की गई अवैध वसूली प्रकरण में अब तक जांच लम्बित पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि दोषियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाए। उन्होंने विधवा, विकलांग, वृद्धावस्था आदि पेंशनों के लिए ब्लाक स्तर पर कैम्प लगवाने का प्रस्ताव रखा। सहसवान के विधायक ओमकार सिंह यादव, बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्य ने राजीव गांधी विद्युतीकरण योजनान्तर्गत कार्य न कराने पर असंतोष व्यक्त किया और कहा कि निजी नलकूप कनेक्शन लेने में किसानों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं होना चाहिए। बदायूं के सांसद ने कहा कि वह आवेदनकर्ताओं की स्थिति से अवगत करा दें, जिससे उसी के आधार पर शासन द्वारा निजी नलकूपों के कनेक्शन कराने का लक्ष्य प्राप्त किया जा सके। जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव ने जिला पंचायत की रिक्त भूमि पर स्टेडियम आदि बनाए जाने का प्रस्ताव रखा। जनप्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनान्तर्गत बनाई गई सड़कों की गुणवत्ता खराब बताते हुए जांच कराए जाने की मांग की। शेखूपुर के विधायक आशीष यादव ने शिक्षा विभाग में किए गए प्रमोशन, समायोजन आदि में व्यवहारिक दृष्टिकोण न रखते हुए अध्यापकों की तैनाती करने पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने पेयजल पाइप लाइन योजना का भी समुचित लाभ ग्रामीणों को न मिलने पर आपत्ति जताई। बैठक में विधान परिषद सदस्य/पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के अध्यक्ष दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव के प्रतिनिधि के रूप में सुरेश पाल सिंह चौहान तथा भारत सिंह यादव भी उपस्थित रहे।
जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने सभी जनप्रतिनिधियों का स्वागत एवं आभार व्यक्त करते हुए बताया कि गत वित्तीय वर्ष में प्रदेश स्तर पर जनपद का 12वां स्थान रहा और उनका प्रयास है कि आगामी वित्तीय वर्ष में इससे भी शीर्ष स्थान पर जनपद रहे। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले किसी अधिकारी के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी देवेन्द्र सिंह कुशवाहा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं कार्यदायी संस्थाओं के अभियन्तागण मौजूद रहे।

Leave a Reply