डीसीएम पलटने से 17 गाय मरीं, तस्कर आसानी से फरार

गड्ढे में पड़े गायों के शव और मौके पर जमा भीड़।
गड्ढे में पड़े गायों के शव और मौके पर जमा भीड़।

गौ तस्करों पर पुलिस अंकुश नहीं लगा पा रही है। गौ तस्कर संपूर्ण व्यवस्था पर हावी नजर आ रहे हैं, इसके बावजूद पुलिस सरगना की खोजबीन करना तक मुनासिब नहीं समझ रही। आज फिर बेखौफ तस्कर गायें लेकर जिला पार कर रहे थे, लेकिन संयोग से डीसीएम पलट गई, तो कामयाब नहीं हो सके, पर डीसीएम सहित मृत व जीवित गाय छोड़ कर फरार आसानी से हो गये। कुल 27 में 17 गायें मृत पाई गईं एवं बाकी की हालत गंभीर बनी हुई है, जिससे समूचे इलाके में आक्रोश व्याप्त है।

घटना बदायूं-दातागंज रोड पर स्थित अंधे की प्याऊ के पास की है। बताते हैं कि सोमवार सुबह छः बजे के आसपास यहाँ एक डीसीएम पलट गई। लोगों ने पास जाकर देखा, तो उसके अंदर गायें तड़प रही थीं। एक-एक कर मौके पर सैकड़ों लोग जमा हो गये, जिनकी आँखों में गायों की हालत देख कर खून उतर आया।

बताते हैं कि डीसीएम में पैर बांध कर गायें भरी गईं थीं और उनके ऊपर मटर की बोरियां चुनी गई थीं, जिससे 17 गायें मर गईं और बाकी मरनासन्न अवस्था में पहुंच गईं। डीसीएम पर अमरोहा जिले का नंबर है। चाल-परिचालक भागने में सफल रहे। पुलिस ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है, साथ ही मृतक गायों को दफना दिया गया है, लेकिन एक सवाल सबकी जुबान पर है कि पुलिस मुख्य सरगना तक क्यूं नहीं पहुंच पा रही। पिछले दिनों बदायूं पुलिस ने रिकॉर्ड स्तर पर कार्रवाई कर सौ के करीब तस्करों को पकड़ा था, लेकिन वो धरपकड़ भी नौकरों पर ही खत्म हो गई। पुलिस जब तक तस्करी करने वाले मुख्य सरगना तक नहीं पहुंचेगी, तब तक तस्करी बंद होना असंभव है।

Leave a Reply