मुख्य सचिव ने पहली बैठक में अफसरों को सरकार की मंशा के अनुरूप दिए निर्देश

मुख्य सचिव राजीव कुमार स्टेफानिया अबाकेरली के साथ बैठक में अफसरों को निर्देश देते हुए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के निर्देशों के अनुपालन में प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु पर्यटन विभाग की परियोजनाओं की टाइमलाइन निर्धारित करते हुये निर्देश दिये कि योजनायें आगामी दिसम्बर, 2017 तक प्रथम चरण के अन्तर्गत तथा दिसम्बर, 2018 तक द्वितीय चरण के अन्तर्गत प्रत्येक दशा में पूर्ण करा ली जायें। गढ़मुक्तेश्वर में ब्रज घाट के पर्यटन विकास हेतु प्रस्ताव यथा-शीघ्र तैयार कराने के भी निर्देश दिये। आगरा में ताजमहल एवं आगरा फोर्ट के मध्य वाकलेटर का संचालन तत्काल प्रारंभ कराने के भी निर्देश दियेे। आगरा में जिन स्थानों पर एक्सप्रेस-वे शहर के अन्दर प्रवेश करता है, उन स्थानों पर पर्यटकों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुये पर्यटकों के वाहन की पार्किंग हेतु पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाये। पार्किंग स्थल से पर्यटकों को ताजमहल एवं आगरा फोर्ट केे लिये हाप-एण्ड-हाप बस सेवा के माध्यम से ताजमहल एवं आगरा फोर्ट का भ्रमण कराने की सुविधा उपलब्ध कराई जाये। पार्किंग स्थल पर ही इण्टीग्रेटेड टिकटिंग सिस्टम भी स्थापित कराया जाये, ताकि हाप-एण्ड-हाप बस सेवा के लिये ताजमहल एवं आगरा फोर्ट के टिकट पर्यटकों को सुगमता से प्राप्त हो सकें।

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में विश्व बैंक सहायतित प्रोपुअर पर्यटन विकास परियोजना एवं पर्यटन विभाग की अन्य योजनाओं के सम्बन्ध में विश्व बैंक के टास्क टीम लीडर स्टेफानिया अबाकेरली के साथ बैठक कर विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि जनपद आगरा में ऐसे स्थान जहां सड़क, परिवहन, रेलवे एवं जलमार्ग का जंक्शन बनाने की संभावना हो, वहां पर एक जंक्शन का निर्माण कराया जाये। उन्होंने कहा कि इण्टीग्रेेटेड ट्रैफिक सिस्टम के माध्यम से पर्यटकों को आगरा के पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराने की सुविधा उपलब्ध कराई जाये।

राजीव कुमार ने ताजमहल एवं आगरा फोर्ट हेतु एक हेरिटेज जोन की स्थापना भी कराये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनपद मथुरा में यमुना नदी के पानी को चैनल के माध्यम से मथुरा में घाटों तक लाने हेतु ब्रट घाट परियोजना क्रियान्वित कराई जाये। उन्होंने जनपद मथुरा के घाटों को सम्मिलित करते हुये चैरासी कोसी परिक्रमा हेतु मार्ग का निर्माण कराया जाये, जिसमें पर्यटकों की सुविधा हेतु आवश्यकतानुसार उपयुक्त स्थानों पर पड़ाव स्थल भी बनाया जाये।

मुख्य सचिव ने वृन्दावन परिक्रमा मार्ग को पर्यटन की दृष्टि से विकसित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बृज क्षेत्र की सांझी कला शैली का विकास विश्व बैंक परियोजना के माध्यम से कराया जाये। उन्होंने मथुरा में डिज्नी लैण्ड की तर्ज पर कृष्णा डिज्नी लैण्ड प्रस्ताव भी तैयार करने केे निर्देश दिये। बैठक में प्रमुख सचिव एवं महानिदेशक पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी, विश्व बैंक कोआॅर्डिनेटर खन्ना स्टेट एवं प्रतिनिधि संजय सक्सेना सहित पर्यटन विभाग के उप निदेशक एवं परियेाजना निदेशक विश्व बैंक परियोजना अनूप कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply