प्रधानपति प्रधानाध्यापिका से बोला जूते मारूंगा, रंडी, छिनाल, मिटा दूंगा

जूते मारूंगा … रंडी है तू … छिनाल … तेरी बहिन की रंडी मारूं … बेहद आपत्तिजनक भाषा है यह, पर हमारे लिए लिखना इसलिए जरूरी हो गया है कि इस भाषा का प्रयोग आज ऐसी जगह किया गया है, जिसे शिक्षा का मन्दिर कहा जाता है। जिस पर सभ्य और शिक्षित समाज बनाने का अहम दायित्व है, उस प्रधानाध्यापिका को दबंग और भ्रष्ट प्रधानपति ने आज ऐसी गालियाँ दी हैं, जिससे प्रधानाध्यापिका अवसाद में है, वहीं शिक्षक बेहद आक्रोशित नजर आ रहे हैं। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ ने घटना की निंदा की है और प्रधानाध्यापिका के सम्मान के लिए किसी भी स्तर तक लड़ने की चेतावनी दी है।

संपूर्ण समाज को शर्मसार कर देने वाली उक्त वारदात सालारपुर विकास क्षेत्र के गाँव खासपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय की है, यहाँ किश्वरजहां प्रधानाध्यापिका हैं। एक वीडियो सामने आया है, जिसमें खासपुर की महिला प्रधान शाइन का पति सगीर अहमद प्रधानाध्यापिका किश्वरजहाँ को बेहद आपत्तिजनक गालियाँ दे रहा है, वह बच्चों और साथी महिला शिक्षिकाओं के सामने ही रंडी और छिनाल कह रहा है, साथ ही कह रहा है कि तू हज नहीं गई है, रास्ते से ही लौट आई है, इस भाषा पर पास में बैठी शिक्षिका ने आपत्ति की, फिर भी दबंग और भ्रष्ट प्रधानपति नहीं माना, वह धारा प्रवाह गालियाँ बकता रहा और प्रधानाध्यापिका को मिटा देने की धमकी देते हुए चला गया।

उक्त घटना क्रम का किसी ने वीडियो बना लिया, जो सोशल साइट्स पर वायरल हो गया है। वीडियो देख कर शिक्षक समाज का खून खौल उठा है। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के महामंत्री शैलेन्द्र सिंह ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि वह प्रधानाध्यापिका के साथ हैं और उनके सम्मान के लिए किसी भी स्तर तक जायेंगे। उन्होंने कहा प्रधानपति को तो कोई अधिकार ही नहीं है, उसके विरुद्ध तत्काल कड़ी कार्रवाई होना चाहिए। उक्त प्रकरण बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रेम चंद यादव के संज्ञान में भी है, लेकिन वे घटना को दबाने का प्रयास करते नजर आ रहे हैं। जानकारी करने पर बीएसए ने बताया कि उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को प्रधान के विरुद्ध कार्रवाई करने का पत्र लिख दिया है, जबकि वारदात प्रधान ने नहीं, बल्कि दबंग प्रधानपति द्वारा की गई है, जिसके विरुद्ध तत्काल कड़ी कार्रवाई होना चाहिए थी।

उधर पीड़ित प्रधानाध्यापिका किश्वरजहाँ से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि प्रधानपति उन पर अवैध रूप से अधिक रूपये का चैक देने का दबाव बना रहे थे, उन्होंने कहा कि वह मानक से अधिक धनराशि का चैक नहीं देंगी, इसी बात पर वह भड़क गये और गालियाँ देने लगे। पीड़ित ने बताया कि उन्होंने वरिष्ठ अफसरों को घटना के संबंध में बता दिया है, साथ ही थाना कुंवरगाँव में सगीर के विरुद्ध तहरीर दे दी है। एसओ कुंवरगाँव धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज करा दिया गया है, साथ ही अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

थाना कुंवरगाँव में दबंग प्रधानपति के विरुद्ध तहरीर देने पहुंची पीड़ित प्रधानाध्यापिका।

Leave a Reply